एनसीएल की तीन परियोजनाओं का वार्षिक कोयला उत्पादन लक्ष्य पूरा

जयंत दुधिचुआ व ककरी परियोजनाओं ने हासिल की यह उपलब्धि

सिंगरौली। भारत सरकार की मिनीरत्न कंपनी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की सबसे बड़ी कोयला खदानों में से एक जयंत परियोजना ने गुरुवार को अपना 20 मिलियन टन कोयला उत्पादन का वार्षिक लक्ष्य समय रहते पूरा कर लिया। जयंत परियोजना ने विगत वर्ष की समान अवधि की तुलना में 7.44 फीसदी की शानदार वृद्धि के साथ यह उपलब्धि हासिल की है। एनसीएल की दुधीचुआ एवं ककरी परियोजनाओं ने भी अपने वार्षिक कोयला उत्पादन लक्ष्य को समय पूर्व ही पूरा कर लिया है।

सीएमडी एनसीएल पी के सिन्हा और एनसीएल के कार्यकारी निदेशक मंडल ने परियोजनाओं की इस विशेष उपलब्धि के लिए सभी कोयला क्षेत्रों के प्रबंधन एवं श्रमिकों को बधाई दी है। वैश्विक महामारी के दौरान सभी कोल योद्धाओं की मेहनत, कर्तव्यनिष्ठा एवं समर्मण की भी सराहना की है।

वर्ष 2020-21 में एनसीएल ने 113.25 मिलियन टन के अपने लक्ष्य के सापेक्ष में अभी तक पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 6.32 प्रतिशत वृद्धि के साथ 110.09 मिलियन टन कोयले का उत्पादन कर लिया है। कंपनी ने अभी तक 104.47 मिलियन टन कोयले का प्रेषण भी किया है जिसमें से 75 फीसदी से अधिक कोयला बिजली संयंत्रों को दिया गया है।

एनसीएल ने 17.46 प्रतिशत वार्षिक बढ़त के साथ 364.04 मिलियन क्यूबिक मीटर अधिभार हटाया है जो कोयला के एक्सपोज़र और उत्पादन के लिए अत्यधिक आवश्यक घटक है। गौरतलब है कि परियोजनाओं एवं इकाइयों के लक्ष्य के सापेक्ष प्रदर्शन और निरंतरता के आलोक में यह कहा जा सकता है कि एनसीएल समय रहते अपना उत्पादन लक्ष्य हासिल कर लेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button