कोर्ट और पुलिस से लुकाछिपी का खेल खेल रहे फरार 5 अन्तरर्राजीय स्थायी वारंटी गिरफ्तार

मोरवा पुलिस ने एमपी यूपी व छत्तीसगढ़ में छिपे वारंटियों को ढूंढ निकाला

सिंगरौली। मोरवा पुलिस ने 3 राज्यों के विभिन्न जिलों में फरारी काट रहे 5 स्थाई वारंटियों को सफलतापूर्वक गिरफ्तार कर न्यायालय में प्रस्तुत कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र कुमार सिंह के सख्त निर्देश व एएसपी अनिल सोनकर के मार्गदर्शन मोरवा एसडीओपी राजीव पाठक के निगरानी व मोरवा टी आई मनीष त्रिपाठी के नेतृत्व में गठित 3 पुलिस टीम द्वारा लंबे समय से न्यायालय व पुलिस को चकमा देकर फरारी काट रहे स्थायी वारंटियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में सुपुर्द किया है। जिले में जारी अभियान के तहत चोरी, जालसाजी व अवैध हथियार के अपराध में अन्तरर्राज्यीय फरारी काट रहे 5 स्थायी वारंटियों को एमपी के रीवा यूपी के मिर्जापुर और छत्तीसगढ़ के बलरामपुर व अम्बिकापुर से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार चार आरोपियों के ऊपर कुल 9 स्थायी वारंट जारी थे।
तीन राज्यों के विभिन्न स्थानों से गिरफ्तार स्थायी वारंटियों के बारे में जानकारी देते हुए मोरवा टी आई मनीष त्रिपाठी ने बताया कि गिरफ्तार वारंटियों के ऊपर चोरी जालसाजी व अवैध हथियार सहित अन्य कई अपराधों का मामला न्यायालय में विचाराधीन है। उन्होंने बताया कि उक्त सभी वारंटी न्यायालय को चकमा दे उक्त राज्यों के जिलों में छिपकर लंबे समय से फरारी काट रहे थे। श्री त्रिपाठी के अनुसार सिंगरौली एसपी श्री सिंह द्वारा वारंटियों की सूची व निर्देश मिलने के बाद मोरवा पुलिस की तीन अलग अलग टीमें बनाकर वारंटियों को पकड़ने हेतु लगाया गया। गठित टीमों को सभी वारंंटियों को गिरफ्तार करने में अपेक्षित सफलता मिली।
5 आरोपियों पर जारी था कुल 9 स्थायी वारंट- टीआई त्रिपाठी
टीआई मनीष त्रिपाठी ने बताया कि छत्तीसगढ़ के बलरामपुर से मकडु उर्फ राकेश अम्बिकापुर से अजीत सिंह यूपी के मिर्जापुर से केके तिवारी उर्फ कृष्ण कुमार तिवारी व एमपी के रीवा से विनोद शाह व सत्य प्रकाश तिवारी को गिरफ्तार किया गया। गौरतलब हो कि एक वारंटी सत्य प्रकाश तिवारी रीवा जेल में बंदी है जिसकी जेल में जाकर गिरफ्तारी की प्रक्रिया पूरी की गई।
पुलिस टीमों में ये रहे शामिल
अंतरराज्यीय स्थायी वारंटियों को गिरफ्तार करने में उनि विनय शुक्ला खेलन सिंह साहबलाल सिंह राम नरेश शुक्ला राजवर्धन सिंह अशोक सिंह प्रधान आरक्षक संतोष सिंह संजय सिंह परिहार अरविंद चतुर्वेदी अरुणेन्द्र पटेल विजय आर रामनरेश प्रजापति सुबोध सिंह सहित सायबर प्रभारी जितेंद भदौरिया आर विजय पटेल शोभल वर्मा दीपक परस्ते व कोतवाली वैढ़न से प्रवीण सिंह कर्चुली का विशेष योगदान रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button