एनसीएल के विविध कोयला क्षेत्र विभिन्न श्रेणियों में चुने गए सर्वश्रेष्ठ

कोविड 19 के दृष्टिगत नहीं हुआ पुरस्कार वितरण समारोह

सिंगरौली। खनिक अभिनंदन दिवस के अवसर पर प्रत्येक वर्ष नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) में विभिन्न श्रेणियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले सर्वश्रेष्ठ कोयला क्षेत्रों को सम्मानित किया जाता रहा है। लेकिन इस वर्ष कोविड 19 जनित परिस्थितियों के कारण समारोह का आयोजन नहीं किया गया। एनसीएल ने शनिवार को खनिक अभिनंदन दिवस’ 2021 के अवसर पर विगत वर्ष 2020-21 में विविध श्रेणियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कोयला क्षेत्रों की सूची जारी की।

कार्य निष्पादन के अनुसार कंपनी के कोयला क्षेत्रों को दो श्रेणियों (ए और बी) में बांटकर पुरस्कार हेतु चयन किया गया। पहली श्रेणी में सालाना 10 मिलियन टन से अधिक कोयला उत्पादन करने वाले क्षेत्र तथा दूसरी श्रेणी में सालाना 10 मिलियन टन से कम कोयला उत्पादन करने वाले क्षेत्रों को रखा गया। सर्वाधिक कोयला उत्पादन के लिए अपनी श्रेणियों में जयंत एवं बीना, सर्वाधिक विभागीय अधिभार हटाव के लिए निगाही एवं बीना क्षेत्र का सर्वश्रेष्ठ परियोजना के रूप में बाज़ी मारी। विगत वर्ष की तुलना में कोयला उत्पादन में सर्वाधिक बढ़ोत्तरी के लिए अपनी-अपनी श्रेणियों में दूधिचुआ एवं बीना क्षेत्र, विभागीय अधिभार हटाव में सर्वाधिक वृद्धि के लिए निगाही एवं ककरी, कोयला प्रेषण में सर्वाधिक वृद्धि के लिए दूधिचुआ एवं ककरी चुने गए।

एचओई द्वारा अधिभार हटाव के लक्ष्य की अधिकतम प्राप्ति के लिए खड़िया व कृष्णशिला अग्रणी रहीं। सर्वाधिक सिस्टम की क्षमता के उपयोग के लिए जयंत एवं झिंगुरदा, विगत वर्ष की तुलना में कोयला स्टॉक की मात्रा में सर्वाधिक कमी के लिए ककरी, कोयले के प्रतिशत ग्रेड की स्वीकृति के लिए खड़िया व कृष्णशिला, सर्वाधिक विभागीय ओएमएस के लिए जयंत व कृष्णशिला, प्रति टन न्यूनतम लागत की श्रेणी में दूधिचुआ व कृष्णशिला, सर्वाधिक अनुमानित लाभप्रदता के लिए जयंत व कृष्णशिला चयनित हुए।

न्यूनतम डीजल खपत में खड़िया व कृष्णशिला, पूर्व वर्ष कि तुलना में डीजल खपत में सर्वाधिक प्रतिशत कमी के लिए निगाही व ककरी, न्यूनतम लूब्रिकेंट खपत में अमलोरी व कृष्णशिला, न्यूनतम बिजली खपत में खड़िया व बीना पुरस्कृत होंगे। पाउडर फैक्टर की श्रेणी में कोयले के लिए अमलोरी व झिंगुरदा, अधिभार हटाव (शोवेल-डंपर) के लिए जयंत व कृष्णशिला, अधिभार हटाव (ड्रैगलाइन) के लिए जयंत ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। भारी मशीनों की सर्वाधिक उपलब्धता की श्रेणी मे ड्रैगलाइन के लिए निगाही व बीना, शॉवेल के लिए जयंत व झिंगुरदा तथा डंपर के लिए जयंत व झिंगुरदा का चयन हुआ।

भारी मशीनों की सर्वाधिक उपयोगिता की श्रेणी मे ड्रैगलाइन के लिए जयंत व बीना, शॉवेल के लिए जयंत व झिंगुरदा तथा डंपर के लिए जयंत व झिंगुरदा ने बाजी मारी। पूर्व वर्ष कि तुलना में शॉवेल-डंपर प्रणाली की क्षमता के उपयोग में सर्वाधिक प्रतिशत वृद्धि के लिए जयंत व झिंगुरदा और सर्फ़ेस माइनर की क्षमता के सर्वाधिक प्रतिशत उपयोग के लिए दुधीचुआ शीर्ष पर रहे। जेम से सर्वाधिक सामान व सेवाएँ खरीदने के लिए निगाही व बीना सर्वश्रेष्ठ कोयला क्षेत्र बने। सामाजिक निगमित दायित्व के बजट के सर्वाधिक प्रतिशत उपयोग के लिए दूधिचुआ व ब्लॉक बी को चयनित किया गया।

बजट के सापेक्ष सर्वाधिक प्रतिशत पूंजीगत व्यय के लिए खड़िया व ककरी , विगत वर्ष की तुलना में इन्वेंटरी में सर्वाधिक प्रतिशत कमी के लिए खड़िया व कृष्णशिला , सर्वाधिक अवधि के लिए शून्य दुर्घटना की श्रेणी में खड़िया, झींगुरदा व कृष्णशिला, पिछले पांच वर्ष में शून्य दुर्घटना के लिए झींगुरदा व कृष्णशिला तथा पर्यावरण मानकों के बेहतरीन अनुपालन के लिए निगाही व बीना ने सबसे बेहतर प्रदर्शन किया। कॉर्पोरेट प्लानिंग विभाग, बोर्ड सचिवालय, कॉस्ट और बजट विभाग, महाप्रबंधक (सिविल/ इन्फ्रा) के साथ ब्लॉक बी व कृष्णशिला में पदस्थापित टीम, जयंत सिविल टीम के सदस्यों को नवाचार के लिए विशेष उपलब्धि पुरस्कार के लिए चयनित किया गया।

सर्वश्रेष्ठ कर्मी होंगे पुरस्कृत

इसके अलावा विविध व्यक्तिगत श्रेणियों जैसे सर्वश्रेष्ठ ड्रैग लाइन, शोवेल, डंपर, सरफ़ेस माइनर, ग्रेडर , ड्रिल, डोज़र इत्यादि के ऑपरेटर, उत्खनन तथा विद्युत एवं यांत्रिक विभाग के सर्वश्रेष्ठ तकनीशियन, सर्वश्रेष्ठ पर्यवेक्षक तथा चिकित्सा शिविरों के सफल आयोजन के लिए सर्वश्रेष्ठ कर्मियों के नामों कि घोषणा की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button