कोरोना ने बदला ट्रकों के पीछे लिखे जाने वाले स्लोगन : शायरी का अंदाज़

singraulitimes.com

ट्रकों के पीछे लिखे स्लोगन व शायरी उन्हें पढने वालों को मुस्कुराहट के लिए उद्वेलित करते रहे हैं। लेकिन कोविड-19 ने ट्रकों के पिछले हिस्से में लिखे जाने वाले स्लोगन व शायरी का अंदाज ही बदल दिया है। अब जो कुछ ट्रकों और कुछ अन्य वाहनों पर लिखा हुआ पढ़ने को मिल रहा है, वह अत्यधिक रोचक अनूठा और कोरोना के विरुद्ध जागरुक करने वाला है।

आजकल ट्रकों के पीछे लिखे कुछ स्लोगन्स व शायरी बानगी के रूप में प्रस्तुत हैं। पढ़ें, मुस्कुराएं और हाँ उन पर अमल अवश्य करें।

हाई वे – स्लोगन/शायरी

कोरोना ने बदले स्लोगन

“देखो मगर प्यार से….
डरता है कोरोना- वैक्सीन की मार से”

“मैं खूबसूरत हूं मुझे नजर न लगाना, जिंदगी भर साथ दूंगी, वैक्सीन जरूर लगवाना”

“हंस मत पगली, प्यार हो जाएगा, टीका लगवा ले, कोरोना हार जाएगा”

“टीका लगवाओगे तो बार-बार मिलेंगे, लापरवाही करोगे तो हरिद्वार मिलेंगे”

“यदि करते रहना है सौंदर्य दर्शन रोज-रोज, तो पहले लगवा लो वैक्सीन के दोनों डोज”

“टीका नहीं लगवाने से यमराज बहुत खुश होते हैं”

“चलती है गाड़ी-उड़ती है धूल, वैक्सीन लगवा लो वरना होगी बड़ी भूल”

“बुरी नजर वाले तेरा मुंह काला, अच्छा होता है वैक्सीन लगवाने वाला”

“कोरोना से सावधानी हटी, तो समझो सब्जी-पूड़ी बंटी”

“मालिक तो महान है, चमचों से परेशान है।”
“कोरोना से बचने का, टीका ही समाधान है।”

“जगह मिलने पर साइड दिया जाएगा, टीका नहीं लगवाया तो कोरोना से मर जाएगा”

ऐसे अनगिन स्लोगन और शायरी इन दिनों हाइवे पर चलने वाले ट्रकों के पीछे लिखे हुए दिखाई दे रहे हैं। ये पढ़ने वालों के चेहरे पर मुस्कान लाने के साथ ही वैक्सिनेशन अभियान का बढ़िया प्रचार प्रसार भी कर रहे हैं।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button