डीसीए सचिव विजयानंद के दु:खद निधन से पसरा शोक

डीसीए सचिव विजयानंद

सिंगरौली। डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट असोसिएशन के सचिव, सर्व प्रिय समाजसेवी खिलाड़ी विजयानंद जायसवाल के असामयिक एवं अप्रत्याशित निधन के दु:खद समाचार से सिंगरौली जिले में चहुंओर शोक की लहर फैल गई है। कुछ दिन पूर्व वे कोविड संक्रमण की चपेट में आ गए थे। स्थिति को गंभीर देख उन्हें रीवा स्थित संजय गांधी मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर किया गया था, जहाँ कोरोना वायरस ने उन्हें जीवन के अंतिम मैच में क्लीन बोल्ड कर दिया।

विजयानंद जी पिछले दो दशकों से भी अधिक समय से क्रिकेट संघ से पदाधिकारी के रूप में जुड़े रहे। इस दौरान उनके निर्देशन में अनेकों टूर्नामेंट आयोजित हुए। समय समय पर आयोजित किये गए प्रशिक्षण शिविरों के माध्यम से उन्होंने जिला से लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों को गढ़ने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वाह किया। खेलों से इतर सामाजिक क्षेत्र में भी उन्होंने नि:स्वार्थ भाव से अपना जो योगदान दिया वह सदैव ही अनुकरणीय रहेगा।

खेल जगत अचंभित, संवेदनाओं की बाढ़

डीसीए सचिव विजयानंद जी के निधन की खबर से डीसीए के पदाधिकारियों के अतिरिक्त सभी खेल संघों के पद धारकों, विभिन्न विधाओं के खिलाड़ियों, प्रशिक्षकों एवं व्यवस्था से जुड़े लोगों को अचंभित कर दिया है। किसी को यह विश्वास ही नहीं हो रहा है कि विजयानंद अब उनके बीच नहीं रहे। डीसीए के संरक्षक एवं भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष कांतशीर्ष देव सिंह, खेल संघ के पदाधिकारी व पत्रकार रोहित गुप्त, एथलेटिक्स संघ के रामानंद, सतीश राय, टीटी संघ के नौशाद आलम, अनुराग सिंहल, महिला अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी श्रीमती इंदु बाला , वॉलीबॉल संघ के राजेन्द्र वैश्य, खिलाड़ी व स्व. मायाराम शिक्षा समिति के अध्यक्ष बद्री एन. बैस सहित तमाम लोगों ने गहरी शोक संवेदना प्रकट करते हुए श्री जायसवाल के निधन को सिंगरौली जिले के सुनहरे क्रिकेटिंग युग का अंत बताया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button