कर्ज चुकाने से बचने के लिए दे दी खुद की सुपारी

षड़यंत्र का हुआ पर्दाफाश, शूटर भी पकड़ा गया

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक फिल्मी अंदाज में किये गए षड़यंत्र का खुलासा करते हुए स्वयं पर गोली चलवाने की सुपारी देने वाले एक व्यापारी एवं कॉन्ट्रैक्ट शूटर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

क्या है घटना और सच

भोपाल के अयोध्या बायपास निवासी 31 वर्षीय प्रवेश जैन की मेहता मार्केट में गाड़ियों को सुधारने की दुकान है। बीते शनिवार रात लगभग 9 बजे दुकान बंदकर घर जाने के दौरान उन पर गोली चली और उनके दाहिने हाथ में लगी थी। उन्हें एक निजी अस्पताल ले जाया गया जहाँ भर्ती कर इलाज चल रहा है। प्रवेश जैन ने अपने परिचित बसंत सिंह पर गोली चलाने का आरोप लगाया था। इसके बाद पुलिस ने बसंत सिंह को हिरासत में ले लिया। उससे पूछताछ में सामने आया कि वह घटना के समय अपने घर पर था। उसने पुलिस को इस बात को सिद्ध करने के लिए पर्याप्त प्रमाण भी दिए जिससे विवेचना दल संतुष्ट हो गया।

शूटर ने किया खुलासा

इसके बाद पुलिस ने प्रवेश की मोबाइल की कॉल डिटेल निकाली। इसमें मोहम्मद गुराज का नंबर मिला जो ऐशबाग इलाके का नामी बदमाश है। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की तो उसने व्यापारी के कहने पर गोली मारने की बात कबूली। उसका कहना था कि वारदात करने के लिए 2 दिनों तक रेकी की थी। गोली मारने के लिए ऐसा स्थान तय किया था जहां पर सीसीटीवी नहीं था।

शूटर ने बताया कि उसे गोविंदपुरा इलाका सही लगा और उसने वहीं वारदात को अंजाम दिया। वारदात की कहानी 24.50 लाख रुपए के रकम से जुड़ी है जो व्यापारी को बसंत ने अपने परिचित अमानत अली से दिलाई थी। प्रवेश यह रकम वापस नहीं करना चाहता था। इसलिए उसने खुद पर जानलेवा हमले का नाटक रचा। बसंत सिंह पिछले 3 माह से उससे अपनी रकम वापस मांग रहा था।

30 हजार की दी थी सुपारी

पुलिस ने शूटर के बयान को साझा करते हुए बताया कि व्यापारी प्रवेश जैन ने स्वयं पर गोली चलाने के लिए मोहम्मद गुराज को 30 हजार रुपए दिए थे। ₹5000 अलग से कारतूस लेने के लिए भी दिए थे। आरोपी द्वारा कट्टा और कारतूस खरीदने की बात सामने आई है। एएसपी राजेश भदौरिया का कहना है कि आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button