फर्जी डॉक्टर बनकर करता रहा रेप

महाकोशल। मध्यप्रदेश के जबलपुर कोतवाली थाना क्षेत्र में एक ऐसा प्रकरण दर्ज हुआ है जिसमें आरोपी अपनी पहचान बदलकर पिछले 6 साल से न केवल पीड़िता को अपनी वासना का शिकार बनाता रहा, वरन् पीड़िता की बहनों को सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर परिजनों से लाखों की ठगी भी कर दी।

पुलिस के अनुसार

जबलपुर कोतवाली प्रभारी अनिल गुप्ता के अनुसार 28 वर्षीय युवती रामनगर अधारताल की रहने वाली है। 2014 में उसकी दोस्ती उसी क्षेत्र में रहने वाले रविंद्र चढ़ार से हुई। दोनों में फोन पर बात होने लगी। रविंद्र ने अपना परिचय डॉक्टर आयुष्मान गोयल के रूप में दिया। कुछ मुलाकातों के बाद रविंद्र उर्फ आयुष्मान ने लड़की को शादी के लिए प्रपोज किया और मना करने पर सुसाइड करने की धमकी दी। इस पर लड़की उसकी बातों में आ गई और दोनों में अफेयर शुरू हो गया।

शिकायतकर्ता लड़की ने बताया कि रविंद्र उर्फ डॉक्टर आयुष्मान अक्सर उससे मिलने के लिए उसके घर आता था और जब घर में कोई नहीं होता था तब वह उस युवती से शारीरिक संबंध बनाता था। वह कई बार उसे होटल में भी लेकर गया था। बीते 21 मार्च 2021 तक सब कुछ ठीक चलता रहा। लेकिन उसके बाद शिकायतकर्ता लड़की ने बताया कि 6 साल तक रविंद्र उर्फ डॉक्टर आयुष्मान उसके साथ रेप करता रहा। लड़की के मुताबिक परिवार से बातचीत के दौरान रविंद्र ने उसके पिता को बताया कि वह उसकी बहनों की सरकारी नौकरी लगवा सकता है। इसके लिए रविंद्र ने लड़की के पिता से 6 लाख बतौर रिश्वत ली। लेकिन नौकरी नहीं लगवा सका। इस ठगी के बारे में जब पता चला कि जो व्यक्ति खुद को डाक्टर आयुष्मान बताकर 6 साल तक उसके साथ रेप करता रहा वह असल में रविंद्र चढ़ार है। शिकायत के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button