विवाहिता के आत्महत्या मामले में सास और देवर को जेल

निगरी पुलिस ने प्रताड़ित कर ब्याहता को फांसी लगाने के लिए विवश करने के आरोप में किया था गिरफ्तार

सिंगरौली। निगरी चौकी पुलिस चौकी क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम छमरछ निवासी एक ब्याहता द्वारा गत माह अज्ञात कारणों से फांसी लगा ली गई थी। निगरी पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर विवेचना में लिया था। पुलिस अधीक्षक बीरेंद्र सिंह के निर्देशन, एसडीओपी प्रियंका पांडेय के मार्गदर्शन व सरई थाना प्रभारी संतोष तिवारी के सतत निगरानी में जांच कर रहे चौकी प्रभारी शीतला यादव ने जांच में पाया कि मृतका राजकुमारी प्रजापति ने अपनी सास व देवर की प्रताड़ना से तंग आकर फांसी लगाई है।

चरित्र संदेह थी प्रताड़ना की वजह

पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में यह उजागर हुआ कि मृतका राजकुमारी प्रजापति का पति बुद्धसेन प्रजापति अपने ससुराल सीधी जिले में रहकर मजदूरी का कार्य करता था। वह महीना- 15 दिन में ही कुछ समय के लिए घर आया करता था। वहीं ससुराल पक्ष से अलग रह रही उनकी मझली बहू राजकुमारी प्रजापति पर उसकी सास शांति प्रजापति व देवर संदीप प्रजापति द्वारा चरित्र संदेह कर अक्सर गाली गलौज व अभद्र टिप्पणी कर प्रताड़ित किया जाता था।

बताया गया है कि 15 जून की रात भी सास और देवर द्वारा मृतका राजकुमारी के साथ गाली गलौज व अभद्रता की गई थी, जिससे क्षुब्ध होकर उसने फांसी लगा ली। साधारण से दिख रहे इस आत्महत्या के मामले में निगरी चौकी प्रभारी उप निरीक्षक शीतला यादव ने अब धारा 306, 34 भादवि के तहत दोनों के विरुद्ध मामला पंजीबद्ध कर उन्हें हिरासत में ले लिया। पुलिस अभिरक्षा में उन्हें न्यायालय में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल दाखिल करा दिया गया है।

इनकी रही भूमिका
उक्त कार्यवाही में चौकी प्रभारी निगरी शीतला यादव के साथ सहायक उप निरीक्षक विनोद सिंह चौहान, आरक्षक दिलीप तिवारी राजेश प्रजापति की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button