संक्रमण नहीं बढ़ने देंगे व आर्थिक गतिविधियां भी चलाएंगे-मुख्यमंत्री

30 मई से प्रारंभ होगी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रियों, सांसदों, विधायकों, प्रभारी अधिकारियों तथा क्राइसिस मैनेजमेंट समूहों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में जन सहयोग से कोरोना नियंत्रण का अनूठा काम हुआ है। परन्तु संकट अभी टला नहीं है। हम सभी कोविड अनुरूप व्यवहार करते हुए प्रदेश में संक्रमण को बढ़ने नहीं देंगे तथा आर्थिक गतिविधियां भी चालू करेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना नियंत्रण में ग्राम, ब्लाक, वार्ड तथा जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेंजमेंट समूह ने सराहनीय योगदान दिया है। मध्यप्रदेश के जनसहयोग के इस मॉडल की पूरे देश में चर्चा हो रही है। आगे भी कोरोना की लड़ाई जन आंदोलन के रूप में जारी रहेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 30 मई से मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शुरू हो रही है। इस योजना में 24 वर्ष की आयु तक, कोरोना से जिन बच्चों के माँ-बाप नहीं रहे हैं, उन्हें 5 हजार रूपये मासिक पेंशन के अलावा प्रति माह राशन तथा नि:शुल्क शिक्षा भी प्रदान की जाएगी। इनमें बड़े बच्चे भी शामिल होंगे। जिन बच्चों के रिश्तेदार उनकी देख-रेख नहीं कर पाऐंगे, उनकी शासकीय बाल गृहों में व्यवस्था की जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज निवास से वर्चुअल माध्यम से प्रभारी मंत्रियों, सांसदों, विधायकों, प्रभारी अधिकारियों तथा ग्राम,ब्लाक-वार्ड तथा जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सभी सदस्यों को संबोधित किया।

तेजी से हुआ है सुधार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण में तेजी से गिरावट आई है। अप्रैल माह में जहां प्रदेश की पॉजिटिविटी रेट 25% तक पहुंच गई थी, आज की स्थिति में पॉजिटिविटी रेट 2.2% हो गई है। एक्टिव प्रकरण 1 लाख 11 हजार तक पहुंच गए थे जो घटकर 30899 हो गए हैं तथा रिकवरी रेट 80 % से बढ़कर 95% हो गई है। आज डिंडोरी में कोई नया प्रकरण नहीं आया है। आगर-मालवा, बुरहानपुर, कटनी तथा खण्डवा में 1-1 नए प्रकरण आए हैं। प्रदेश के 18 जिलों में संक्रमण 1% से कम है।

तीसरी लहर आए ही नहीं ऐसे हों प्रयास

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर आए ही नहीं, ऐसे प्रयास किए जा रहे हैं। हमारी रणनीति है कि हम कोरोना के अधिक से अधिक टेस्ट कर पॉजिटिव मरीजों को आइसोलेट करेंगे, उनकी कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग करेंगे, किल कोरोना अभियान के माध्यम से सर्दी, जुखाम, खांसी आदि के प्रत्येक मरीज की पहचान कर उसे नि:शुल्क मेडिकल किट देकर उसका उपचार करेंगे। अस्पताल में भर्ती हर मरीज को सर्वोत्तम इलाज देकर उसे स्वस्थ करेंगे।

अनलॉक में अभी इन पर रहेगा प्रतिबंध

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 01 जून से लागू किए जाने वाले अनलॉक में कुछ गतिविधियों पर पूरे प्रदेश में प्रतिबंध रहेगा, शेष के संबंध में क्राइसिस मैनेजमेंट समूह निर्णय कर सकेंगे। राजनैतिक,सांस्कृतिक, धार्मिक, सामाजिक आयोजन, मेले, खेल, मनोरंजन गतिविधियां, स्कूल, कॉलेज, प्रशिक्षण संस्थान, पिकनिक स्पॉट,आदि बंद रहेंगे। विवाह एवं अंतयेष्टि में अत्यंत सीमित संख्या में व्यक्ति शामिल हो सकेंगे।

रेड, यलो एवं ग्रीन जोन में कितनी छूट

संभाग के हिसाब से रेड, यलो एवं ग्रीन जोन बनाए जाएंगे। रेड जोन में सभी गतिविधियां बंद रहेंगी (अत्यावश्यक सेवाएं छोड़कर), यलो में कुछ गतिविधियां चालू रहेंगी तथा ग्रीन में राज्य स्तर से प्रतिबंधित गतिविधियों को छोड़कर शेष चालू रहेंगी।

पूरे प्रदेश में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार को प्रात: 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू रहेगा।

कोविड अनुरूप व्यवहार न करने पर दुकानें सील भी होंगी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हर व्यक्ति के लिए अनिवार्य रूप से मास्क लगाना, एक दूसरे के बीच दूरी रखना, कहीं भी भीड़ न जुटाना, दुकानों पर ग्राहकों के बीच दूरी रखने की व्यवस्था आदि कोविड अनुकूल व्यवहार आवश्यक होगा। जो ऐसा नहीं करेगा, उसके विरूद्ध कर्रवाई होगी। यदि दुकानें, प्रतिष्ठान इनका उल्लंघन करते हैं तो उन्हें सील भी किया जा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button