6 माह से लंबित प्रकरणों का करें शत-प्रतिशत निराकरणः कलेक्टर

निर्देश: कार्य में लापरवाही बरतने पर जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम का कटेगा एक सप्ताह का वेतन

सिंगरौली, मध्यप्रदेश। सोमवार को कलेक्टर सिंगरौली राजीव रंजन मीना ने सीआरपीसी की धारा 107,116 (3) एवं 110 के 6 माह से लंबित कार्यवाही को निराकृत कर जानकारी से अवगत कराने का निर्देश संबंधित क्षेत्रों के एसडीएम एवं तहसीलदार को दिये हैं। उन्होंने कहा कि यदि किसी प्रकरण में कोई व्यक्ति नियमों का उल्लघंन करता है तो उसकी जमानत रद्द कर धारा 22 की कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करें। ये निर्देश उन्होंने समय-सीमा के बैठक के दौरान दिए हैं।

बैठक में अनुपस्थित रहे नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंधक

कलेक्टर मीना कलेक्ट्रेट सभागार में हुई बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। कलेक्टर ने बैठक के दौरान जिले में धान की मिलिंग के प्रगति की जानकारी नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंधक से चाही। किंतु बैठक में प्रबंधक एसके द्विवेदी उपस्थित ही नहीं थे। इस पर कलेक्टर द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई। हालांकि बैठक मे उपस्थित संबंधित विभाग के अन्य अधिकारियों द्वारा धान मिलिंग की प्रगति से कलेक्टर को अवगत कराया गया।

लक्ष्य के अनुसार मिलिंग नहीं करने वाले मिलों पर होगी कार्यवाही

धान मिलिंग की प्रगति अत्यंत कम होने एवं पूर्व बैठकों में भी प्रबंधक के अनुपस्थित रहने पर कलेक्टर के द्वारा संबंधित विभाग के प्रबंधक का 7 दिवस का वेतन काटने का निर्देश दे दिया। उन्होने निर्देश दिया कि धान मिलिंग के लिए अधिकृत किये गये जिन मिलों के द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुसार धान मिलिंग का कार्य नहीं किया जा रहा है उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाय।

केन्द्र व राज्य की योजनाओं की समीक्षा कर दिये निर्देश

कलेक्टर मीना ने केन्द्र एवं प्रदेश सरकार के द्वारा संचालित विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं के प्रगति की समीक्षा की तथा विभागों को निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप हितग्राहियों को लाभ दिलाये जाने हेतु निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जिन हितग्राहियों के प्रकरण बैंको में लंबित हैं, बैंको से समन्वय बनाकर प्रकरणों का त्वरित निराकरण करायें। उन्होंने कहा कि जिन विभागों द्वारा लक्ष्य के अनुरूप हितग्राहियों को लाभ नही दिलाया गया, उससे संबंधित अधिकारी के विरुद्ध कार्यवाही की जावेगी।

राजस्व व वनाधिकार पट्टा

कलेक्टर ने राजस्व विभाग के अधिकारियों से निर्धारित लक्ष्य के अनुसार प्रीमियम व भू-भाटक का शत प्रतिशत वसूली सुनिश्चित करने हेतु निर्देश दिये।
​उन्होने वनाधिकार के पट्टों के लंबित मामलों को भी एक सप्ताह के अन्दर उपखण्ड स्तरीय समिति के द्वारा निराकृत कराने को कहा। संबंधित आवेदक का जाति प्रमाण पत्र उपखण्ड अधिकारी जारी कर आवेदन के साथ लगवाने का कार्य करायें ताकि प्रकरणों का निराकरण समय पर हो सके। उन्होने कहा कि यह शासन की महत्वाकांक्षी योजना है।

कलेक्टर श्री मीना ने नामान्तरण, बंटनवारा, सीमांकन के लंबित प्रकरणों के निराकरण की जानकारी लेने के पश्चात् निर्देश दिए कि 300 दिवस, छः माह, 100 दिवस के लंबित प्रकरणों का निराकरण अभियान चलाकर किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिया कि सीएम हेल्प लाइन में लंबित आवेदनों एवं समय-सीमा के दौरान प्राप्त आवेदनों का भी निराकरण निर्धारित समय पर संतुष्टिपूर्वक किया जाना तय हो।

कलेक्टर श्री मीना ने वैक्सिन टीकाकरण के समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि जिन व्यक्तियों को वैक्सीन का प्रथम डोज लग चुका है निर्धारित समय पर उन्हे वैक्सीन का द्वितीय डोज लगवायें तथा ऐसे व्यक्ति जिन्हें अभी तक वैक्सीन एक भी डोज नहीं लगी है, उन्हें प्रथम डोज का टीकाकरण करायें।

दूसरे टीके का प्रमाण पत्र दिखाने वालों को ही मिलेगा वेतन

कलेक्टर ने यह भी निर्देश दिए कि अधिकारी व कर्मचारियों द्वारा उनका अगस्त माह का वेतनमान वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र प्राप्ति के ही भुगतान की जाय।

10 दिन में ऑक्सिजन प्लांट स्थापित करायें-कलेक्टर

कलेक्टर ने कोविड की तीसरी लहर को रोकने के उद्देश्य से जिला चिकित्सालय व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों आक्सीजन प्लांट लगाये जाने हैं, उनके तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि 10 दिन के अन्दर चिन्हित चिकित्सालयों मे ऑक्सीजन प्लांट लगवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि प्लांटों की समुचित सुरक्षा मुख्य स्वास्थ्य व चिकित्साधिकारी सुनिश्चित करायेंगे।

बैठक में उपस्थित रहे

बैठक के दौरान अपर कलेक्टर डीपी वर्मन, संयुक्त कलेक्टर विकास सिंह, व्हीपी पाण्डेय, एसडीएम ऋषि पवार, एसपी मिश्रा, नगर निगम आयुक्त आरपी सिंह, तहसीलदार जेके वर्मा, जान्हवी शुक्ला, दिव्या सिंह, खनिज अधिकारी एके राय, जिला शिक्षा अधिकारी डीपी सिंह, आरके दुबे, सहायक आयुक्त आदिवासी संजय खेडकर, महिला बाल विकास अधिकारी राजेश गुप्ता सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button