गेल द्वारा सीधी में स्थापित हुआ 833 एलपीएम क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट

जिला अस्पताल में स्थापित ऑक्सीजन प्लांट से उत्पादन शुरू

सिंगरौली/सीधी। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी गैस अथार्टी ऑफ इंडिया लि. (गेल) द्वारा जिला चिकित्सालय सीधी में 833 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले ऑक्सीजन प्लांट का गत शनिवार को शुभारंभ हो गया।

गुणवत्ता जांच के बाद अस्पताल प्रबंधन को सौंपा

शुक्रवार 06 अगस्त को संयंत्र का परीक्षण परिचालन 94 प्रतिशत ऑक्सीजन शुद्धता से पूर्ण कर लिया गया है और संयंत्र जिला अस्पताल, सीधी को मेडिकल ग्रेड के ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए तैयार है। उक्त उपलब्धि पर विधायक सीधी केदारनाथ शुक्ल द्वारा शुभकामनाएं दी गई हैं। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन प्लाण्ट की स्थापना से कोरोना की संभावित तीसरी लहर से लड़ने की तैयारियों को बल मिला है। यह न सिर्फ हमें कोरोना संक्रमण के इलाज में सहायक होगा, बल्कि अन्य जटिल रोगों के इलाज में भी इससे मदद मिलेगी।

इन्होंने बताया

गेल के मुख्य महाप्रबंधक (मानव संसाधन) धीरेन्द्र कुमार जैन ने बताया कि संयंत्र का परीक्षण परिचालन 06 अगस्त को 94 प्रतिशत ऑक्सीजन शुद्धता से पूर्ण कर लिया गया है और संयंत्र जिला अस्पताल सीधी को मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए तैयार है। संयंत्र से ऑक्सीजन आपूर्ति की क्षमता 833 लीटर प्रति मिनट होगी जो कि तकरीबन 170 जम्बो सिलिंडर प्रतिदिन के बराबर होगी। संयंत्र का आपूर्तिकर्ता, मेसर्स गस्टेक इंजीनियरिंग 24 महीने के लिए आवश्यक वारंटी सहायता प्रदान करेगा।

मील का पत्थर सिद्ध होगा यह प्लांट- कलेक्टर

कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने कहा कि सीधी जिले की चिकित्सीय सुविधाओं के विस्तार में यह संयंत्र मील का पत्थर साबित होगा। प्लाण्ट को स्थापित करने में गेल के उच्च प्रबंधन का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। कलेक्टर ने कहा कि प्लाण्ट के स्थापित होने से जिला चिकित्सालय में निर्बाध ऑक्सीजन की सप्लाई संभव हो सकेगी। इससे कोरोना की संभावित तीसरी लहर तथा अन्य बीमारियों के इलाज में बहुत सहायता मिल सकेगी।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button