लगभग 10 लाख का गांजा व नशीली दवा के साथ आरोपी गिरफ्तार, सरगना फरार

1600 सीसी नशीली सिरप, बाईक एवं नकदी जब्त

सिंगरौली/सीधी। मध्यप्रदेश में प्रतिबंधित गांजा एवं अवैध कफ सिरप की बरामदगी मामले में सीधी पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। इस अवैध कारोबार का नेटवर्क सीधी सिंगरौली व अन्य जिलों में फैला है। पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाई के बाद मुख्य सरगना फरार है।

एसपी पंकज कुमावत के निर्देशन में कोतवाली एवं जमोड़ी थाना पुलिस ने गांजा तस्करों के विरुद्ध विशेष अभियान चलाकर बड़ी कार्यवाई को अंजाम दिया है। पुलिस की अलग-अलग टीमों द्वारा मुखबिरों के माध्यम से मिली सूचना पर त्वरित दबिश की कार्रवाइयों को करते हुए गांजा व निषिद्ध औषधि के तस्करों की कमर तोड़ दी है। पुलिस की इस कार्यवाई के बाद से गांजा तस्करों के साथ ही नशीली सिरप के अवैध कारोबार में लिप्त लोगों में हडकंप मच गया है। ऐसे कई कारोबारी भूमिगत भी हो गए हैं।

दबिश और बरामदगी

सीधी पुलिस ने लगभग 10 लाख रुपए की नशीली सामग्री के साथ पांच आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए उनके कब्जे से लगभग डेढ़ लाख से अधिक की नकदी भी बरामद की है।
एसपी पंकज कुमावत के मार्गदर्शन में कोतवाली पुलिस ने चार अलग-अलग स्थानों पर रेड की कार्रवाई करते हुए 1600 शीशी नशीली कफ सिरप एवं 39 किलो 700 ग्राम गांजा जप्त करते हुए 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है।

ये है पूरा मामला

बीते 9 सितंबर को मुखबिर के जरिए पुलिस को सूचना मिली कि बीते 8 सितंबर की दरम्यानी रात को राघवेन्द्र जायसवाल निवासी पडखुरी नं.1 ने लालजी भुजवा और उसके भाई शिवप्रसाद भुजवा दोनों के मुन्नीबाई कालोनी सीधी में स्थित किराए के कमरे में करीब 30-40 किलो गांजा तथा 8-10 पेटी कोरेक्स उतारा है और लालजी भुजवा और उसके भाई शिवप्रसाद भुजवा से माल बिक्री करवाता है। सूचना पर थाना प्रभारी कोतवाली द्वारा उप निरीक्षक राकेश सिंह राजपूत के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन कर सूचना की पुष्टि करते हुए कार्रवाई करने हेतु रवाना किया गया।

पुलिस ने चौतरफा घेराबंदी कर किया गिरफ्तार

एसपी पंकज कुमावत के निर्देशानुसार कोतवाली पुलिस की गठित टीम ने मुखबिर द्वारा बताए गए स्थान पर पहुंचकर घेराबंदी कर रेड की कार्रवाई की तब घर में दो ही लोग लालजी भुजवा पिता विश्राम भुजवा उम्र 27 वर्ष तथा शिवप्रसाद पिता विश्राम भूजवा उम्र 22 वर्ष निवासी गाडा लोलर सिंह थाना कोतवाली जिला सीधी हाल पता- बाबा बघेल के किराये का मकान मुन्नीबाई कालोनी मिश्रा नर्सिंग होम के पास थाना कोतवाली जिला सीधी ही वहाँ मिले। उन्हें मुखबिर की सूचना से अवगत कराते हुए उनकी सहमति से घर की तलाशी ली गई तो सफेद रंग की बोरी में रखा 32 किलोग्राम गांजा, कुल कीमती करीब 3 लाख 20 हजार रूपये बरामद हुआ। इसके पश्चात वहीं 10 पेटी नशीली सिरप भी प्राप्त हुई जिनकी संख्या 1600 सीसी पाई गई। इसकी कुल कीमत दो लाख 38 हजार 400 रुपए है तथा पास ही एक अलमारी में पॉलीथिन में 1 लाख 56 हजार रुपए नगद प्राप्त हुए।

कार्यवाही दल ने उपरोक्त माल को जप्त करते हुए उक्त दोनों आरोपियों को अभिरक्षा में ले लिया और थाना ले गये। उपरोक्त मादक पदार्थ के बारे में आरोपी लालजी भुजवा से प्राप्त 32 किलो गांजा तथा 1600 शीशी कोडीन फास्फेट युक्त नशीली कफ सिरप के सम्बन्ध में पूछा गया तो उन लोगों ने बताया कि राघवेन्द्र जयसवाल निवासी पडखुरी न. 01 का गांजा है जो बहुत बड़ा तस्कर है और अन्य लोगों से गांजा बिकवाता है। इनकी बोलेरो गाड़ी गांजा के प्रकरण में थाना सरई जिला सिगरौली में जप्त की गई है।

आरोपियों का कथन

गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि मोतीलाल राय से बोलेरो गाडी एमपी 53 सीए 6726 खरीदा था जिसे राघवेन्द्र जायसवाल ने मुझसे गांजा तस्करी के लिए किराये पर लिया है तथा मुझे अपनी बिना नम्बरी बुलेट मोटर साइकल यहाँ वहां गाजा बेचने के लिए दिया था तथा मेरी बोलेरो गाड़ी एमपी 53 सीए 6726 से गांजा कोरेक्स की तस्करी करता है।
गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस को बताया कि बीते 8 सितंबर की दरम्यानी रात को राघवेन्द्र जायसवाल निवासी पडखुरी न. 01 का मेरे घर में 32 किलो गांजा और 10 पेटी नशीली कफ सिरप रखवाया है जिसे मैं और मेरा भाई शिवप्रसाद भुजवा दोनों ग्राहकों को बिक्री करते हैं, इसके पूर्व भी हम लोग उसका गांजा बिक्री कर चुके हैं, जिससे पैसे कमाए हैं उन्हीं पैसों में से 1 लाख 56 हजार रुपये बचे हैं। आरोपी लालजी भुजवा के कब्जे से 32 किलो गांजा जैसा मादक पदार्थ तथा 10 कार्टून 1600 शीशी नशीली कफ सिरप कुल कीमती 5 लाख 58 हजार रुपये तथा लाल कलर की बुलेट मोटर साइकिल कीमत एक लाख 85 हजार रूपए नगदी एक लाख 56 हजार रुपये को विधिवत जप्त किया गया है।

ये हैं आरोपी

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में लालजी भूजवा व शिवप्रसाद भुजवा निवासी गाड़ा लोलर सिंह, विनोद साहू निवासी पडखुरी, अमरीश उर्फ रिंकू साकेत निवासी मड़रिया, देवराज गुप्ता निवासी कुचवाही तथा राघवेन्द्र जायसवाल निवासी पडखुरी न. 01 थाना जमोडी जिला सीधी पर अपराध धारा 8, 20 (बी) 21, 22, 27, 29 एनडीपीएस एक्ट, 5/13 ड्रग कंट्रोल एक्ट 1949 के तहत गिरफ्तार किया गया। अपराध दंडनीय होने से गिरफ्तार आरोपी लालजी भुजवा तथा शिवप्रसाद भुजवा को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया जहां से दोनों को जिला जेल सीधी दाखिल कराया गया है तथा आरोपी राघवेन्द्र जायसवाल निवासी पडखुरी न. 01 थाना जमोडी घटना दिनांक से ही फरार है।

दूसरे दिन भी जारी रही कार्रवाई

बीते 10 सितंबर को मुखबिर द्वारा प्राप्त सूचना के आधार पर सहायक उप निरीक्षक पुष्पेन्द्र सिंह के नेतृत्व में संदेही अमरेश उर्फ रिंकू साकेत निवासी मड़रिया के घर पर रेड की कार्रवाई करने पर 2 किलो 500 ग्राम मादक पदार्थ गांजा मिला। आरोपी से उपरोक्त मादक पदार्थ के संबंध में पूछताछ की गई तो उसने बताया कि में पड़खुरी नंबर 1 निवासी राघवेंद्र जयसवाल से गांजा लेकर बेचता है। गिरफ्तार आरोपी अमरेश उर्फ रिंकू साकेत पिता पुसई साकेत तथा सप्लायर राघवेन्द्र जायसवाल निवासी पड़खुरी क्रमांक 1 के विरुद्ध धारा 8, 20(बी) एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपी अमरेश साकेत को जिला जेल सीधी दाखिल कराया गया है।

कुचवाही में गांजा पकड़ाया

सहायक उप निरीक्षक नीरज साकेत के नेतृत्व में टीम ने संदेही देवराज गुप्ता पिता श्यामलाल गुप्ता निवासी कुचवाही के घर पर रेड की जहां 03 किलो मादक पदार्थ गांजा प्राप्त हुआ। गिरफ्तार आरोपी ने पूछताछ के दौरान बताया कि वो पड़खुरी नंबर 1 निवासी राघवेंद्र जयसवाल से गांजा लेकर बेचता है। जिस पर आरोपी तथा गांजा सप्लायर राघवेन्द्र जयसवाल निवासी पड़खुरी क्रमांक 1 के विरुद्ध धारा 8,20(बी) एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपी देवराज को जिला जेल सीधी दाखिल कराया गया है।

मड़रिया बायपास चौराहे से भी गांजा जब्त

सहायक उप निरीक्षक बृजेन्द्र सिंह के नेतृत्व में मड़रिया बायपास चौराहे पर एक व्यक्ति से पॉलीथिन में रखा गांजा मिलने पर संदेही विनोद साहू पिता महादेव साहू निवासी पड़खुरी नंबर 1 सीधी को आरोपी बनाया गया। आरोपी को धारा 8,20 (बी), 27(क) एवं 29 के तहत दंडनीय पाए जाने पर आरोपी के ऊपर मामला पंजीबद्ध कर आरोपी को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत करते हुए जिला जेल सीधी दाखिल कराया गया है।

मुख्य सरगना फरार

सीधी पुलिस की इस ताबड़तोड़ कार्यवाही में अहम बात यह है कि इस पूरे अवैध गांजा और कफ सिरप तस्करी का सरगना राघवेन्द्र जयसवाल निवासी पड़खुरी क्रमांक 1 पुलिस के इस कार्यवाही की भनक लगते ही फरार हो गया है। जिसे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस अपनी अलग रणनीति पर काम कर रही है।

टीआई कोतवाली पर सवालिया निशान

सिटी कोतवाली अंतर्गत लंबे समय से अवैध गांजा और कफ सिरप तस्करी की शिकायतें आती रही हैं जो मीडिया की सुर्खियां भी बनती रही हैं। परंतु कभी भी सिटी कोतवाली टीआई द्वारा गांजे जैसी बड़ी अवैध मामले की तस्करी पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई थी। जबकि सिटी कोतवाली के अंतर्गत ही चार अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर आरोपियों को गांजा और कफ सिरप और नगदी के साथ गिरफ्तार किया गया तथा इनके सप्लायर सरगना का फरार हो जाना भी सवालिया निशान खड़ा करता है। सिटी कोतवाली टीआई जो पिछले 7 सितंबर से लगातार अवकाश पर हैं। उनके द्वारा कभी भी इस मामले को संजीदगी से नहीं लिया गया और इन दिनों जबकि वो लगातार अवकाश पर हैं उसी दौरान सिटी कोतवाली के स्टाफ द्वारा ही इन बड़ी कार्यवाहियों को अंजाम देकर इतनी बड़ी मात्रा में अवैध गांजा कफ सिरप और नगदी सहित आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इससे सिटी कोतवाली टीआई की भूमिका भी संदिग्ध हो जाती है।

ये रहे कार्रवाई में शामिल

उपरोक्त समस्त कार्रवाई में सिटी कोतवाली के उप निरीक्षक अभिषेक सिंह परिहार, उप निरीक्षक राकेश सिंह राजपूत, सहायक उप निरीक्षक रजनीश अग्निहोत्री, सहायक उप निरीक्षक पुष्पेन्द्र सिंह, सहायक उप निरीक्षक बृजेन्द्र सिंह सहायक उप निरीक्षक नीरज साकेत, सहायक उप निरीक्षक वीरभान, प्रधान आरक्षक तिलकराज सेंगर, आरक्षक मनेंद्र शुक्ला, शिवेंद्र मिश्रा, नीरज पाराशर, समेंद्र सिंह, आजाद खान, सुनील बागरी, रामचरित पांडेय, आलोक त्रिपाठी, अभिषेक यादव, राजू यादव साईबर सेल से आनंद कुशवाहा तथा प्रदीप मिश्रा शामिल रहे। इस में आरक्षक नीरज पाराशर, मनेंद्र शुक्ला, शिवेंद्र मिश्रा तथा सामेंद्र यादव की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button