बदहाल एन‌एच 39 पर पलटी सवारी बस, डेढ़ दर्जन यात्री घायल

मोरवा पुलिस ने घायलों को पहुँचाया अस्पताल

singraulitimes.com

मध्य प्रदेश, सिंगरौली
रविवार को दोपहर में, एक दशक से भी अधिक समय से निर्माण विहीन एन‌एच 39 के सिंगरौली-सीधी मुख्य मार्ग पर फिर एक गंभीर हादसा हो गया।

सवारी से भरी बस सड़क निर्माण के लिए वर्षों से खुदे गड्ढे में गिरकर पलट गई। गनीमत यह रही कि इस हादसे में किसी की जान तो नहीं गई परंतु करीब डेढ़ दर्जन लोग इस हादसे में घायल हुए हैं जिनमें से एक की स्थिति गंभीर बताई गई है। घटना मोरवा थाना क्षेत्र में दोपहर लगभग डेढ़ बजे की है। दुर्घटनाग्रस्त बस बरगवां से मोरवा आ रही थी। घायलों का उपचार एनसीएल के केंद्रीय चिकित्सालय में चल रहा है।

Morwa police in action.

प्राप्त जानकारी के अनुसार बरगवां से सिंगरौली आ रही रंजीत बस क्रमांक एमपी 66 पी 0199 मुख्य मार्ग पर, मेन रोड बिड़ला गेट के सामने हादसे का शिकार हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गड्ढे में गिरने से पूर्व ही चालक वाहन से कूद गया और स्टियरिंग फेल होना बताकर वहां से भाग खड़ा हुआ। सवारी बस एन‌एच निर्माण के लिये कुछ साल पहले खोदे ग‌ए गड्ढे में खड़ी कैंपर क्रमांक एमपी 66 जी 2568 पर गिरी, जिसमें मेन रोड के मिस्त्री कार्य कर रहे थे। इस हादसे में उन्हें भी चोटें आईं हैं। इस दुर्घटना के बाद घटनास्थल पर चीख-पुकार मच गई। स्थानीय लोगों द्वारा इसकी सूचना मोरवा थाना प्रभारी को दी गई जिसके फौरन बाद निरीक्षक यू पी सिंह पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और बस में फंसे यात्रियों को बाहर निकलवाने के साथ घायलों को बिना विलंब किए अपने वाहन से अस्पताल भिजवाना शुरू किया। उक्त दुर्घटना की सूचना पर एसडीओपी राजीव पाठक ने एंबुलेंस की व्यवस्था की तथा कई घायलों को इलाज हेतु केंद्रीय चिकित्सालय भिजवाया इस घटना में कुल 17 यात्री घायल हुए हैं।

ये यात्री हुए हैं घायल

मोरवा थानांतर्गत हुई बस दुर्घटना में तारा साहू पत्नी अनीश साहू निवासी गोरबी, सुनीता साहू पत्नी मायाराम साहू निवासी गोंदवाली, रामकली देवी पत्नी वृंदावन साकेत निवासी सोलंग, अनीता साकेत पत्नी राजेश्वर साकेत निवासी बैढ़न, रामदयाल विश्वकर्मा पिता रामबरन निवासी बहरी, अनीता पनिका पत्नी संजय पनिका निवासी भौंड़ार, श्यामवती पत्नी योगेंद्र बैस निवासी गोरबी, चंचा पत्नी पाखुन्द निवासी रेलवे स्टेशन, अंबर केवट पिता जमुना केवट निवासी पतेरी, सुधीर राय पिता सुरेंद्र राय निवासी जगमोरवा, देवासी साहू पत्नी कैलाश साहू निवासी पड़री, गुलरी देवी पत्नी दयाराम साकेत निवासी बड़ोखर, मुनिया साकेत पत्नी कांति प्रसाद साकेत निवासी सोलन, रंजू पत्नी छोटे लाल कोल निवासी गोरबी, मानमती गुर्जर पत्नी जय प्रताप गुर्जर निवासी जियावन समेत कैंपर में कार्य कर रहे इस्तकार मिस्त्री एवं उनका कर्मी रोहित गोंड़ भी घायलों में शामिल हैं। इनमें घायल मानमती गुर्जर की स्थिति गंभीर होने के कारण उसे ट्रॉमा सेंटर बैढ़न के लिए रेफर कर दिया गया है।

SDO Police, monitoring the situation.

सांसद, विधायकों ने घायलों का जाना हाल

सांत्वना का मरहम

छठ पर्व पर व्रतियों से जन सम्पर्क करने के लिये सांसद रीति पाठक, सिंगरौली विधायक रामलल्लू बैस एवं चितरंगी विधायक अमर सिंह सिंगरौली में ही थे। बस दुर्घटना की सूचना मिलने पर घायलों के घावों पर संवेदना का मरहम लगाने ये जन प्रतिनिधि अस्पताल पहुंच गये थे।

राष्ट्रीय राजमार्ग 39 का महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाने वाला सिंगरौली सीधी मुख्य मार्ग के निर्माण की कागजी प्रक्रिया लगभग एक दशक से भी अधिक समय से चल रही है। इस बीच इस कथित राजमार्ग पर हुए हादसों में सैकड़ों जाने जा चुकी हैं और भारी संख्या में लोग अपंग भी हुए हैं। लेकिन आमजन का कहना है कि जवाबदेह जन प्रतिनिधियों की राजनीतिक इच्छा शक्ति और जन के प्रति संवेदना मृत प्राय हो गई है। इस मार्ग को निर्माण कराने के नाम पर 2018 से गड्ढा खोदकर छोड़ा गया है जो अभी भी जस का तस पड़ा है। लोग इस मार्ग पर अपनी जान को हथेली पर लेकर चलने के लिये विवश हैं।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button