SECL की बड़ी परियोजनाओं में CISF व त्रिपुरा राइफल्स की होगी तैनाती

कंपनी प्रबंधन ने समझौता पत्र पर किया हस्ताक्षर

सिंगरौली/बिलासपुर। कोल इंडिया की छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित एसईसीएल की प्रमुख व बड़ी कोयला परियोजनाओं दीपिका, गेवरा, कोरबा एवं कुसमुण्डा में केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के साथ ही त्रिपुरा स्टेट राइफल्स के जवानों की तैनाती की जाएगी। ये खदानें अपने वृहद व विशालकाय मशीनों की तैनाती एवं उच्च उत्पादन रिकार्ड के लिए प्रसिद्ध हैं। फलतः अब खदानों की सुरक्षा व्यवस्था को और भी चाक चौबंद बनाते हुए अर्धसैनिक बल सीआईएसएफ एवं त्रिपुरा स्टेट राइफल्स टीम (इण्डिया रिजर्व) की तैनाती की तैयारी कंपनी प्रबंधन ने की है।

बटालियन में होंगे 1007 जवान व अधिकारी

प्राप्त जानकारी के अनुसार एसईसीएल ने त्रिपुरा स्टेट राइफल्स (इण्डिया रिजर्व) के एक बटालियन की एसईसीएल में तैनाती के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं। इस एक बटालियन में 1007 सुरक्षाकर्मी व अधिकारी होंगे। इनमें से त्रिपुरा स्टेट रायफल्स के लगभग 300 जवान अकेले कुसमुण्डा में तैनात किए जा रहे हैं। बटालियन की एडवांस टीम खदान में डेप्लॉय की जा चुकी है। इसके अतिरिक्त कोरबा क्षेत्र के मानिकपुर में 70 तथा सरायपाली में 30 त्रिपुरा स्टेट रायफल्स के जवानों के तैनाती की योजना है।

विदित हो कि कम्पनी के दीपिका एवं गेवरा खदान क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था हेतु पूर्ण रूप से सीआईएसएफ को जिम्मा दिया गया है। कम्पनी में त्रिपुरा स्टेट राइफल्स के बटालियन की पूर्ण उपलब्धता के उपरांत गारे-पेलमा 2 – 3 तथा अन्य क्षेत्र से सीआईएसएफ के जवान रिलीव होकर दीपिका एवं गेवरा क्षेत्र में अपनी ड्यूटी देंगे।

कुसमुण्डा क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चैबंद करने के उद्धेश्य से अतिरिक्त रूप से 32 विभागीय सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराए गए हैं। यहाँ होमगार्ड के 80 जवान पहले से ही ड्यूटी दे रहे हैं। कुसमुण्डा क्षेत्र में सभी बैरियर पर सीआईएसएफ की तैनाती की गयी है।

अर्धसैनिक बलों की एसईसीएल की कोयला खदानों में तैनाती

सीआईएसएफ द्वारा त्वरित कार्यवाही बल (क्यूआरटी) का गठन किया गया है जो कि 24 घंटे किसी भी अपराधिक कृत्य को रोकने के लिए निगरानी कर रहे हैं। मेगा माइंस में क्षेत्रीय प्रबंधन को राज्य पुलिस टीम से भी निरंतर सतत सहयोग मिल रहा है।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button