भू माफिया व अवैध रूप से रेत का उत्खनन-परिवहन करने वालों के विरुद्ध करें कठोर कार्यवाही: कलेक्टर

शासन की योजनाओं के शत प्रतिशत क्रियान्वयन हेतु दिया निर्देश

सिंगरौली, मध्यप्रदेश। आगामी अगस्त महीने की आभासी बैठकों की अध्यक्षता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे जिसमें प्रदेश के सभी जिलों के कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक सभी बैठकों में अपेक्षित किये गये हैं। आगामी बैठकों के लिए निर्धारित किये गये एजेन्डे के क्रियान्वन के संबंध में सोमवार को जिले के राजस्व व पुलिस विभाग की संयुक्त बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में की गई। कलेक्टर राजीव रंजन मीना की अध्यक्षता एवं पुलिस अधीक्षक बीरेन्द्र कुमार सिंह की उपस्थिति में आयोजित हुई बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर श्री मीना ने मुख्यमंत्री द्वारा पूर्व मे की गई व्हीसी के दौरान दिये गये निर्देशों के पालन व प्रतिवेदन के संबंध में विभागवार जानकारी ली गई।

टास्क फोर्स निरंतर करे कार्यवाही

उन्होंने निर्देश दिया कि भू माफिया, शराब माफिया एवं अवैध रूप से रेत का उत्खनन एवं परिवहन करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाय। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यों की रोकथाम के लिए पूर्व में ही टास्क फोर्स गठित की गई है। टास्क फोर्स निरंतर कार्यवाही करना सुनिश्चित करे। उन्होंने नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिये कि शहरीय क्षेत्र मे अवैध रूप से कालोनियों का निर्माण करने वालों के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही करें। साथ ही अवैध कोलोनाइजर्स के विरुद्ध भी कठोर कार्यवाही करें। उन्होंने निर्देश दिया कि ऐसे माफिया जिनके द्वारा बड़े प्लाट्स को छोटे छोटे टुकड़ों मे विभाजित कर उनकी रजिस्ट्री कराई जा रही है उन पर कड़ी निगरानी रखें और उनके विरुद्ध कार्यवाही करें।

माफिया से मुक्त भूमि को तत्काल शासन के आधिपत्य में लें

कलेक्टर ने कहा कि भू माफियाओं से जो शासकीय भूमि अतिक्रमण से मुक्त कराई गई उन्हें संबंधित क्षेत्र के उपखण्ड अधिकारी तत्काल शासन के अधिपत्य में लिया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि दोबारा शासकीय भूमियों पर अतिक्रमण न होने पाए इस बाबत उपखण्ड अधिकारी अपने अपने क्षेत्र में निगरानी करें। यदि शासकीय भूमि पर फिर अतिक्रमण किया गया तो संबंधित क्षेत्र के तहसीलदार राजस्व निरीक्षक, पटवारी के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी।

शराब के अवैध कारोबार व चिटफंड कंपनियों पर बरतें सख्ती

उन्होंने अवैध रूप से शराब बिक्री करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि चिट फण्ड कंम्पनियों के विरुद्ध कार्यवाही करें एवं जनता से जो पैसा कंम्पनियों द्वारा जमा कराया गया है उसे वापस भी कराएं।

कलेक्टर ने जिले में मातृ मृत्यु दर को रोकने के लिए संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के लिए अधिक से अधिक प्रचार प्रसार कराने के साथ हीं नवीन प्रसव केन्द्र खोले जाने का निर्देश दिया तथा जिले में अधिक से अधिक वृक्षारोपण किये जाने हेतु विभागवार लक्ष्य निर्धारित किया। शहरी क्षेत्र में गनियारी स्थिति प्रधानमंत्री आवास के समीप खाली पड़ी भूमि में वृहद वृक्षारोपण कराने के उद्देश्य से जन प्रतिनिधियों सहित नागरिकों से वृक्षारोपण करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि नव निर्मित पीडीएस दुकानों सहित दूसरे शासकीय भवनों के चारों ओर वृक्षारोपण करायें।

खाद्यान्न की कालाबाजारी रोकें

कलेक्टर ने पीडीएस के राशन की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने को कहा। संबंधित क्षेत्र के उपखण्ड अधिकारी आपदा प्रबंधन समित के समक्ष खाद्यान का वितरण कराया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिया कि अन्न उत्सव का आयोजन विधायकों की उपस्थिति में निर्धारित की गई तिथियों पर हो। कलेक्टर ने निर्देश दिया अकेले रह रहे बुजुर्ग एवं दिव्यांगों को घर बैठे राशन पहुंचाने की व्यवस्था नगरीय क्षेत्र में नगर निगम आयुक्त सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने निर्देश दिये कि शासन की सभी जन कल्याणकारी योजनाओं का शत प्रतिशत पात्र हितग्राहियों को लाभ प्रदान किया जाय तथा जिले के युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने हेतु समय समय पर कैम्पों का आयोजन कराया जाय।

उन्होंने जल जीवन मिशन की समीक्षा करते हुये निर्देश दिये कि जिले में संचालित नल जल योजनाओं को सुचारु रूप से संचालित की जाएं तथा योजना से संबंधित कार्यों को समय सीमा में गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराया जाय। उन्होंने वनाधिकार पट्टों के वितरण के संबंध में चर्चा की और प्रकरणों का निराकरण कर पोर्टल पर दर्ज करने तथा जिन हितग्राहियों को पट्टों का आवंटन किया जा चुका है, उन्हे शासन की योजनाओं का लाभ दिलाए जाने हेतु निर्देशित किया।

आयुष्मान कार्ड व अपमिश्रण को लेकर निर्देश

कलेक्टर ने आयुष्मान कार्ड के प्रगति की समीक्षा करते हुये निर्देश दिये कि लक्ष्य के अनुरूप समय सीमा में कार्ड बनाये जायें। उन्होंने निर्देश दिया कि पंचायतों एवं नगर निगम के वार्डों सहित टीकाकरण केन्द्रों पर अभियान चलाकर आयुष्मान कार्ड बनवाया जाना सुनिश्चित करें। बैठक के दौरान मिलावट से मुक्ति अभियान के प्रभावी क्रियान्वन के संबंध मे निर्देश दिये कि पूर्व में बनी जाँच टीम अपने दल के साथ त्योहारों को दृष्टिगत रखते हुये अधिक से अधिक खाद्य पदार्थो़ की जांचकर मिलावटखोरों के विरुद्ध कार्यवाही करें। बैठक के दौरान कलेक्टर ने कोविड सहायता राशि, अनुकम्पा नियुक्ति अनुग्रह सहायता राशि का समय सीमा के अदंर प्रदान किये जाने का निर्देश दिये गये साथ ही एक जिला एक उत्पाद को बढ़ावा देने के साथ साथ जिला चिकित्सालय सहित अन्य चिकित्सालयों में ऑक्सीजन प्लांट को समय पर पूर्ण करने का निर्देश दिया गया।

महिला अपराध के विरुद्ध भी संजीदगी

कलेक्टर ने महिला अपराध के रोकथाम हेतु महिला उर्जा हेल्प डेस्क के माध्यम से अपराधों को रोकने का निर्देश दिया। उन्होंने क्षमता से अधिक सवारी लेकर चलने वाले वाहनों पर भी कार्यवाही करने के निर्देश दिये। बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक बीरेन्द्र सिंह के द्वारा भू माफिया, शराब माफिया एवं रेत माफिया सहित महिला अपराधों को रोकने के लिए पूर्व में संयुक्त रूप से गठित टीम को एक साथ कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिये। वर्षा ऋतु में भूमि से संबंधित होने वाले आपसी विवादों के निराकरण हेतु कैम्प आयोजित करने हेतु निर्देश दिया ताकि समय पर गठित होने वाले अपराधों को रोका जा सके।

बैठक में ये रहे शामिल

बैठक के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी साकेत मालवीय, प्रभारी वन मण्डल अधिकारी रिषभा सिंह नेताम, अपर कलेक्टर डीपी बर्मन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनकर, संयुक्त कलेक्टर बीपी पाण्डेय, एसडीएम ऋषि पवार, डिप्टी कलेक्टर विकास सिंह, निगमायुक्त आरपी सिंह, सीएसपी देवेश पाठक, सहित थाना प्रभारी बैढ़न, विन्ध्यनगर, नवानगर, मोरवा एवं जिले के अधिकारी उपस्थित रहे।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button