एनसीएल-सीएसआईआर-नीरी के नेशनल वेबिनार में पर्यावरण पर होगी चर्चा

पर्यावरण व पारिस्थितिकी तंत्र पर विशेषज्ञ देंगे व्याख्यान

सिंगरौली। आगामी शनिवार को भारत सरकार की मिनीरत्न कंपनी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड, कोयला मंत्रालय के निर्देशन में ‘भारत का अमृत महोत्सव’ के तहत पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन के लिए सर्वोत्तम प्रथाओं पर एक वेबिनार करेगी। इस वेबीनार में पर्यावरणीय व दीर्घकालिक कृषि पद्धतियों, पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली तथा उससे रोजगार सृजन जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की जाएगी।

वेबिनार में एनसीएल के निदेशक (तकनीकी/संचालन) डॉ अनिंद्य सिन्हा, पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन, हरित खनन, नवाचार, नई प्रौद्योगिकी और प्रथाओं के विकास तथा सामाजिक व आर्थिक उन्नति के संदर्भ में एनसीएल मॉडल को प्रस्तुत करेंगे।

वेबिनार के दौरान सीएसआईआर-नीरी की सीनियर वैज्ञानिक डॉ शालिनी ध्यानी, आईआईएफ़एम भोपाल के प्रोफेसर डॉ योगेश कुमार दुबे, फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट के वन पारिस्थितिकी और जलवायु परिवर्तन प्रभाग के प्रमुख वैज्ञानिक डॉ एन बाला, सेवानिवृत्त वैज्ञानिक एवं हेड डॉ एचबी वशिष्ठ तथा वैज्ञानिक डॉ ताराचंद संबधित विषयों पर अपना व्याख्यान देंगे।

इस दौरान ग्रामीण अर्थव्यवस्था को आत्मनिर्भर बनाने हेतु शुरू किए गए एनसीएल के महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट ‘किसान गंगा’ के बारे में भी अवगत कराया जाएगा।

गौरतलब है कि’भारत का अमृत महोत्सव’के तहत विद्यालयों एवं आस पास के गाँव में भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के इतिहास एवं नायकों पर चर्चा,निबंध लेखन,चित्रकला प्रदर्शनी,नुक्कड़ नाटक,रैली,स्थानीय गांवों में जागरूकता अभियान,पर्यावरणीय विषयों पर चर्चा,वृक्षारोपण,जैविक खेती,मृदा संरक्षण,स्वच्छ्ता रैली,मार्केट हाट व सार्वजनिक स्थानों पर ‘गो ग्रीन, ड्रिंक क्लीन’ की थीम पर स्वच्छता अभियान, स्थानीय समुदाय के बच्चों और गर्भवती महिलाओं में कुपोषण के खिलाफ व्यापक अभियान, जल संरक्षण एवं स्वच्छ पेयजल पर जागरूकता अभियान जैसी अनेकों अन्य महत्वपूर्ण गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है।

 

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button