पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक ने उत्कृष्ट कार्यों के लिए किया पुरस्कृत

धनबाद मंडल की उपलब्धियों को सराहा

सिंगरौली। गत सोमवार को पूर्व मध्य रेत के हाजीपुर मुख्यालय प्रागंण स्थित वैशाली प्रेक्षागृह में कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करते हुए ‘66 वें रेल सप्ताह‘ का आयोजन किया गया। इसका उद्घाटन महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर अपर महाप्रबंधक अशोक कुमार, प्रधान मुख्य कार्मिक अधिकारी जे.के.पी. सिंह सहित मुख्यालय एवं सभी मंडलों के उच्चाधिकारीगण तथा रेलकर्मी उपस्थित थे।

महाप्रबंधक श्री त्रिवेदी ने वर्ष 2020-21 में विशिष्ट एवं उत्कृष्ट सेवा के लिये मुख्यालय में कार्यरत विभिन्न विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों को नगद राशि एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर पुरस्कृत किया। इसके अलावा, विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य प्रदर्शन हेतु विभागों/मण्डलों के मध्य दक्षता एवं सर्वांगीण दक्षता शील्ड भी प्रदान किया गया।

इस अवसर पर महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी ने अपने स्वागत संबोधन में कहा कि भारतीय रेल को देश की जीवन रेखा होने का गौरव प्राप्त है। 16 अप्रैल 1853 को यात्रा प्रारम्भ कर, अब तक भारतीय रेल 65 हजार किलोमीटर से भी अधिक रेलवे लाइनों के तंत्र ने न केवल देश को एक सूत्र में पिरोया, वरन् आर्थिक और सामाजिक उन्नति में भी इसकी प्रमुख भूमिका रही है। भारतीय रेल के इस प्रगति में हमारे रेलकर्मियों का योगदान उल्लेखनीय रहा है। उनके इस योगदान के मद्देनजर उनके उत्साहवर्द्धन हेतु रेलकर्मियों को आज पुरस्कृत किया जा रहा है।

महाप्रबंधक ने उपलब्धियों को गिनाया

महाप्रबंधक ने कहा कि पूर्व मध्य रेल अपनी स्थापना काल से अब तक के अविस्मरणीय सफर के दौरान कई उपलब्ध्यिां हासिल कर चुका है। सभी रेलकर्मियों के लगन, परिश्रम एवं सहयोग से कोविड की कठिन चुनौतियों के वाबजूद वित्तीय वर्ष 2020-21 में इसमें गति आई।

पूर्व मध्य रेल अपनी स्थापना काल से अब तक के अविस्मरणीय सफर के दौरान कई उपलब्ध्यिां हासिल कर चुका है। वर्ष 2020-21 में 140.17 मिलियन टन का लदान किया गया। इस दौरान धनबाद मंडल ने 133.42 मिलियन टन लदान से 14,297 करोड़ रूपया की आय प्राप्त की जो वित्तीय वर्ष 2020-21 में कोविड-19 की चुनौतियों के बावजूद माल लदान से सर्वाधिक आय प्राप्त करने वाला भारतीय रेल का पहला मंडल बन गया। वाणिज्यिक दृष्टि से भी वर्ष 2020-21 पूर्व मध्य रेल के लिए उपलब्धियों से भरा रहा। वित्तीय वर्ष 2020-21 में पूर्व मध्य रेल ने लगभग 16,469 करोड़ रूपयों का प्रारंभिक आय अर्जित किया है। रेल अवसंरचना के विकास के क्षेत्र में भी हमने काफी प्रगति की है। इस क्रम में 132 ट्रेनों की अधिकतम गति सीमा को 110 किमी/घंटा से बढ़ाकर 130 किमी/घंटा की गई है। इससे बड़ी संख्या में यात्री लाभान्वित हुए हैं । हमनें 2020-21 में 219 प्रमुख परिवर्तनों के साथ 33 नए आर.आर.आई./पी.आई./ई.आई. को चालू किया, जो न केवल पूर्व मध्य रेल बल्कि संभवतः पूरे भारतीय रेल के लिए एक वर्ष में सर्वाधिक है।

इसके साथ-साथ अनेक क्षेत्रों में हमने सफलता के नये आयाम स्थापित किए हैं। ये उपलब्धियाँ रेलकर्मियों के कठिन परिश्रम, कर्तव्यनिष्ठा एवं कार्यकुशलता से हासिल हुई है। महाप्रबंधक ने सुरक्षित और संरक्षित रेल परिचालन, यात्री सुविधा, ट्रेनों एवं स्टेशनों पर खान-पान, साफ-सफाई की व्यवस्था आदि में और अधिक सुधार करते हुए इसे विश्वस्तरीय बनाने पर बल दिया जिससे लोगों को रेल यात्रा में सुखद अनुभूति प्राप्त हो ।
महाप्रबंधक ने रेलवे की कार्य प्रणाली में रेलवे यूनियन और एसोसिएशन की भूमिका को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि हम सभी सकारात्मक दृष्टिकोण से कार्य करने की सोच को कायम रखते हुए तथा कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ें।

प्रधान मुख्य कार्मिक अधिकारी जे.के.पी. सिंह ने सभी रेल कर्मचारी एवं रेल अधिकारियोें का स्वागत करते हुए रेलकर्मियों के लिए इसे काफी महत्वपूर्ण दिन बताया।

धनबाद दानापुर डीडीयू मंडलों को मिला दक्षता पुरस्कार

समग्र क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य दक्षता के लिए 2020-21 का महाप्रबंधक दक्षता शील्ड धनबाद, दानापुर एवं पं.दीनदयाल उपाध्याय मंडल को संयुक्त रूप से प्रदान किया गया जबकि रनर्स अप कप सोनपुर एवं समस्तीपुर मंडल को संयुक्त रूप से मिला। पूर्व मध्य रेल में सफाई अभियान के लिए बड़े स्टेशनों की श्रेणी में पटना जं. को, मध्यम श्रेणी के स्टेशनों में पारसनाथ को तथा छोटे स्टेशनों की श्रेणी में फेसर स्टेशन को स्वच्छता शील्ड प्रदान किया गया। जनशिकायत निवारण में श्रेष्ठ प्रदर्शन से संबंधित शील्ड सोनपुर मंडल को दिया गया। इसी क्रम में प्रचार-प्रसार के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य निष्पादन हेतु पं.दीनदयाल उपाध्याय मंडल को जनसंपर्क शील्ड प्रदान किया गया।

ये रहे उपस्थित

इस अवसर पर दानापुर मंडल के मंडल रेल प्रबंधक सुनील कुमार, समस्तीपुर मंडल के मंडल रेल प्रबंधक अशोक माहेश्वरी, सोनपुर मंडल के मंडल रेल प्रबंधक अनिल कुमार गुप्ता, धनबाद मंडल के मंडल रेल प्रबंधक आशीष बंसल एवं पं. दीन दयाल उपाध्याय मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री राजेश कुमार पांडेय सहित मुख्यालय एवं पांचों मण्डलोें से आए उच्चाधिकारीकण उपस्थित थे।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button