मानवता की सेवा के लिए सिंगरौली के कुमार आयुष राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय सम्मानों से अलंकृत

सिंगरौली। कोविड-19 की दूसरी लहर से हाहाकार मचा हुआ था। स्वास्थ्य सेवाएं कमतर हो गई थीं और ऑक्सीजन, वेंटीलेटर, बेड, ब्लड व दवाओं के लिए लोग संघर्ष कर रहे थे। अवसर से अनैतिक लाभ कमाने वाले मानवता के शत्रु एक ओर जहाँ काला बाजारी करने में जुटे थे, वहीं  नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लि. में पदस्थ मुख्य प्रबंधक- एम एम ओ पी श्रीवास्तव के सुपुत्र कुमार आयुष, एक संकल्प के साथ पीड़ित मानवता की सेवा में जुटे रहे।

आयुष श्रीवास्तव 2020 में केआईआईटी से बी. टेक पास आउट हैं। कोरोना संकट के दौरान उन्होंने सोशल नेटवर्किंग से देश के विभिन्न राज्यों के डेढ़ सैकड़ा से अधिक कोरोना पीड़ित लोगों की मदद कर उनकी प्राणरक्षा की। आयुष ने पीड़ितों को स्थानीय जन प्रतिनिधियों एवं एनजीओ के माध्यम से उन्हें मदद मुहैया कराने का जो अनुकरणीय कार्य किया उसके लिए उन्हें विभिन्न सम्मानों से अलंकृत किया गया है।

आयुष ने पूरे भारत में बहुत से लोगों की सेवा प्लाज्मा, रक्त , दवाओं, बिस्तरों, बीआईपीएपी, ऑक्सीजन सिलेंडर इत्यादि की व्यवस्था करा कर किया है। उन्होंने कई राज्यों के विभिन्न कस्बों में कोरोना पीड़ित लगभग 180 लोगों की मदद की। इन राज्यों में मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, झारखंड, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, गुजरात, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और दिल्ली- एनसीआर के स्थानीय राजनेताओं, गैर सरकारी संगठनों, राज्य के प्रशासनिक अधिकारियों और स्वयंसेवकों की मदद से सेवा कार्य किया।

इस सराहनीय कार्य को करने के लिए कुमार आयुष की सराहना की गई है। कुल 180 लोगों को सहायता मुहैया कराने के साधुवाद योग्य कार्य के लिए UN-GMHA संयुक्त राष्ट्र-ग्लोबल मानसिक स्वास्थ्य संघ ने मानवीयता पुरस्कार 2021, विश्व सिख चैंबर ऑफ कॉमर्स ने वॉरियर सम्मान, प्रोफेसर अच्युत सामंत, संस्थापक KIIT/ KISS फाउंडेशन और सांसद लोकसभा के साथ ही मध्य प्रदेश प्लाज्मा डोनर्स फाउंडेशन द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

पीड़ित मानवता की सेवा का कार्य करने वाले कुमार आयुष ने सिंगरौली जिले का सम्मान बढ़ाया है। कुमार आयुष इलेक्ट्रिकल विषय में बी.टेक. की उपाधि प्राप्त कर यूपीएससी प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे हैं। व्यापार मंडल सिंगरौली एवं विद्वत् परिषद सहित कई अन्य संस्थाओं के पदाधिकारियों ने कुमार आयुष द्वारा नि:स्वार्थ सेवाओं के लिए उनकी सराहना की तथा उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button