एसपी पंकज कुमावत का एक साल, रहा बेमिसाल

ताबड़तोड़ कार्रवाइयों का बनाया कीर्तिमान

पुलिस कप्तान कुमावत का सीधी में पूरा हुआ एक साल
सिंगरौली/सीधी।
सीधी में बतौर पुलिस अधीक्षक पदस्थ पंकज कुमावत ने अपने 1 वर्ष के कार्यकाल को न केवल सफलतापूर्वक पूरा किया वरन् उन्होंने अपराधियों को पस्त करते हुए आमजन के बीच शानदार पुलिसिंग का उदाहरण भी प्रस्तुत किया। कोरोना काल के दौरान सीधी जिले की पुलिस ने जिले भर में लोगों को जिस मानवता के साथ सेवा की, वह अनुकरणीय है। एसपी कुमावत के मार्गदर्शन में जरूरतमंद लोगों को दवाइयों से लेकर राशन तक की मदद पहुंचाने में जुटा रहा। इससे सीधी जिले की पुलिस की आम जनता के बीच काफी बेहतर छवि बनी।

उल्लेखनीय है कि 2 जुलाई 2020 को बतौर पुलिस अधीक्षक पंकज कुमावत ने सीधी जिले की कमान संभाली थी। उन्होंने सबसे पहले जिले भर के थानों में अपराधों की पेंडेंसी को निपटाने का बीड़ा उठाया और विशेष अभियान चलाकर कुछ ही महीनों में लंबित मामलों के निराकरण का प्रदेश स्तर पर रिकॉर्ड कायम किया।

इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हैं एसपी कुमावत

इंजीनियरिंग डिग्री होल्डर आईपीएस कुमावत ने अपने कार्यकाल के प्रारंभ से ही सीधी पुलिस में सोशल इंजीनियरिंग का प्रयोग करते हुए शानदार पुलिसिंग का नमूना प्रस्तुत किया। उन्होंने बीते 1 वर्ष में अपराधियों तथा अवैध कार्य में लिप्त व्यक्तियों पर जमकर कार्रवाईयां की तथा अपराध एवं अवैध कार्य पर काफी हद तक अंकुश लगाने में सफल रहे। सीधी पुलिस की छवि आम जनता के बीच काफी बेहतर है।

रिकॉर्ड स्तर पर हुई कार्रवाहियां

बीते 1 वर्ष में 1 जुलाई 2020 से लेकर 30 जून 2021 तक रिकॉर्ड स्तर पर 2749 मामले सीधी पुलिस द्वारा पंजीबद्ध किए गए हैं। नशीले पदार्थ पर की गई कार्यवाही के तहत 59 लाख 57 हजार 136 रुपए कीमती नशीले पदार्थ एवं परिवहन में प्रयुक्त 66 लाख 77 हजार 250 रुपए कीमती 64 वाहन जप्त किए गए हैं। वर्ष 2020 की तुलना में वर्ष 2021 में अवैध रूप से गांजा बेचने वालों के विरुद्ध 41 की जगह 60 प्रकरणों में 78 आरोपियों के विरुद्ध मामला पंजीबद्ध करते हुए 1 क्विंटल 83 किलो 337 ग्राम गांजा तथा 1.30 ग्राम स्मैक जप्त किया गया। इसी प्रकार नशीली दवाओं तथा सिरप के मामलों में 70 प्रकरणों में 96 आरोपियों के विरुद्ध मामला पंजीबद्ध किया गया है।

प्रतिबंधात्मक कार्रवाई

सीधी पुलिस ने शांति व्यवस्था भंग करने वाले उपद्रवियों के विरुद्ध सीआरपीसी की धारा 110 के तहत कुल 684 व्यक्तियों का फाइनल बाऊंड ओवर कराया तथा धारा 107/116 (3) के तहत 10170 के बाऊंड ओवर करते हुए भविष्य में होने वाले अपराधों पर अंकुश लगाने का प्रयास किया गया है। आदतन अपराधी प्रवृति के 34 व्यक्तियों को जिला बदर कराया गया एवं चार व्यक्तियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (रासुका) के तहत कार्यवाही की गई।

दशकों पुराने वारंटियों की हुई गिरफ्तारी

सीधी जिले के थानों में भारी संख्या में ऐसे भी वारंटी थे जो पिछले दो-तीन दशक से फरार चल रहे थे। उनके लिए एसपी पंकज कुमावत ने विशेष अभियान चलाकर 20 से 25 साल पुराने वारंटियों को गिरफ्तार कर कार्यवाही की है। स्थाई वारंट के तहत कुल 262 व्यक्तियों को तथा इसी क्रम में गिरफ्तारी वारंट के 865 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया।
गुमशुदा नाबालिगों की जहां जुलाई 2019 से जून 2020 तक संख्या 144 थी वहीं विगत 1 वर्ष में देश के विभिन्न राज्यों से 228 अवयस्क बालक एवं बालिकाओं को ढूंढकर उनके परिजनों को सुपुर्द किया गया है।

सीएम हेल्पलाइन में हुई बेहतर कार्यवाही

सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से शिकायत करने वाले फरियादियों की शिकायत निराकरण में विगत 1 वर्ष में उत्तम प्रदर्शन करते हुए जिला सीधी ने ए ग्रेड समूह के जिलों में निरंतर प्रदेश के शीर्ष 3 जिलों में शामिल रहा है।
इसी प्रकार सीसीटीएनएस के कोर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में शानदार कार्य करते हुए जिला सीधी विगत 1 वर्ष में लंबे समय तक शीर्ष पर रहा है साथ ही कई बार जिला सीधी के ही थानों ने प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर जगह बनाई है।

चिटफंड कंपनियों पर बड़ी कार्यवाही

चिटफंड कंपनियों में विगत 1 वर्ष में कुल 11 प्रकरणों में 32 व्यक्तियों के विरुद्ध प्रकरण पंजीबद्ध किया जाकर 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिनसे 38 करोड़ 44 लाख 35 हजार 420 रूपये बरामद किये गये। साथ ही 46.175 एकड कीमती ₹ 96 लाख, 00.11 हे. कीमती ₹ 15 लाख के विरुद्ध कुर्की की कार्यवाही प्रक्रियाशील है।

एसपी कुमावत का कहना

पुलिस अधीक्षक सीधी, आईपीएस पंकज कुमावत का कहना है कि किसी भी जिले में पुलिस की सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि पुलिस का आम जनता के बीच में किस तरह की विश्वसनीयता और मधुर संबंध हैं। पुलिस आम जनता के लिए है, न कि आम जनता पुलिस के लिए। इसी अवधारणा को कार्य का लक्ष्य बनाकर सीधी पुलिस ने बीते 1 वर्ष में जिले के अपराधों पर अंकुश लगाने का प्रयास किया है। जिले भर में जो भी पुलिस द्वारा कार्यवाही की गई हैं उसमें पुलिस को सफलता मिलने का श्रेय आम जनता के सहयोग से ही हासिल हुआ है। मैं सीधी जिले की आम जनता के सहयोग के लिए उनका धन्यवाद करता हूं तथा यह अपेक्षा करता हूं कि आपके आस पास जो भी अपराध घटित हो रहे हों उसकी जानकारी तत्काल पुलिस को उपलब्ध कराएं। पुलिस आम जनता के साथ मित्रवत है और आपकी सहायता के लिए सदैव तत्पर है।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button