बलियरी ब्लास्ट में शहीद हुए श्रमवीरों के स्मारक पर चढ़ाए श्रद्धा सुमन

विधायक कलेक्टर पुलिस अधीक्षक ने दी श्रद्धांजलि, किया नमन

सिंगरौली, मध्यप्रदेश। 5 जुलाई 2009 को औद्योगिक क्षेत्र बलियरी विस्फोट में 22 श्रमिक शहीद हो गये थे। शहीद श्रमिकों की स्मृति में वार्ड क्रमांक 41 शॉपिंग कॉम्पलेक्स प्लाजा के पास निर्मित शहीदों के स्मारक पर सिंगरौली विधायक रामलल्लू वैश्य, देवसर विधायक सुभाष रामचरित्र बर्मा, कलेक्टर राजीव रंजन मीना, पुलिस अधीक्षक बीरेन्द्र सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी साकेत मालवीय, नगर निगम आयुक्त आरपी सिंह, नगर निगम के पूर्व अध्यक्ष चन्द्र प्रताप विश्वकर्मा, वरिष्ठ समाजसेवी राम अशोक शर्मा सहित उपस्थित जनमानस ने शहीद श्रमवीरों की स्मारक पर पुष्पाजंली अर्पित कर उन्हें नमन किया।

आबादी से दूर शिफ्ट हों उद्योग: श्री वैश्य

इस अवसर पर विधायक सिंगरौली श्री वैश्य ने श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि वह दिन अत्यन्त ही दुखद क्षण लेकर आया जब बलियरी विस्फोट में हमारे 22 श्रमिक शहीद हो गये। इस घटना की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री स्वयं यहाँ आए थे और शहीद हुये श्रमिकों के प्रति शोक संवेदना प्रकट करते हुये उनके परिवारों को तत्काल आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिये थे। उन्होंने कहा कि ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए पूर्व में लिए गये निर्णय के अनुसार औद्योगिक कंम्पनियों को आबादी क्षेत्र से बाहर शिफ्ट किया जाय। उन्होंने कहा कि अभी एक्सप्लोसिव की गाड़ियाँ शहर के बीच से गुजरती हैं जिससे दुर्घटना की संभावना बनी रहती है। समय समय पर इनकी सुरंक्षा जाँच की जाय। सभी कंम्पनियों में निर्धारित गाईड लाईन के अनुसार सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जाय तथा समय समय पर सुरक्षा व्यवस्था की ऑडिट भी की जाय। उन्होंने कहा जिले की जिन सड़कों के माध्यम से कोल परिवहन किया जा रहा है उनका चौड़ीकरण भी कराया जाय।

शहीद श्रमिक परिवारों की समस्याएं हों दूर-श्री वर्मा

देवसर विधायक श्री वर्मा ने कहा कि सभी

बलियरी के शहीदों को नमन

कम्पनियों में सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में विधिवत कार्यक्रमों का आयोजन कर लोगों को जागरूक किया जाय। उन्होंने भी कहा कि घनी आबादी वाले क्षेत्र से विस्फोटक सामग्री तैयार करने वाली कंम्पनियों को आबादी से दूर स्थापित कराया जाय। उन्होंने कहा कि आज भी उस घटना को जिले के नागरिक भूल नहीं पाये हैं। शहीद हुये श्रमिकों के परिवारो से उनकी समस्याओं के संबध में जानकारी लेकर उनका हर संभव समाधान किया जाय।

कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने शहीद श्रमिकों को नमन करते हुये कहा कि सभी कंम्पनियाँ सुरक्षा नियमों अधिनियमों का शत प्रतिशत पालन करें, ताकि कोई भी दुर्घटना घटित न हो। वहीं पुलिस अधीक्षक श्री सिंह ने भी अपने उद्बोधन में कहा कि जिस तरह से वाहन चलाते समय हेलमेट, बेल्ट से अपनी सुरक्षा की जाती है उसी तरह से किसी भी कार्य में सुरक्षा अत्यन्त आवश्यक घटक है। किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना न हो इसके लिए कम्पनियों के वरिष्ठ अधिकारी सुरक्षा नियमों की जाँच करें।

इनके अलावा नगर निगम के पूर्व अध्यक्ष विश्वकर्मा, एवं वरिष्ट समाज सेवी रामअशोक शर्मा पूर्व पार्षद हीरालाल सोनी ने भी संबोधित किया। दो मिनट का मौन रख शहीद श्रमिकों के आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई। इस अवसर पर नगर निगम के कार्यपालन यंत्री व्हीपी उपाध्याय, उपायुक्त आरपी वैश्य, प्रभारी श्रम अधिकारी नवनीत पाण्डेय, नगर निगम के सहायक यंत्री रत्नाकर गजभिये, प्रवीण गोस्वामी, उपयंत्री पीके सिंह, एसएन द्विवेदी, अनुज सिंह सहित कम्पनियों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button