शिव पार्वती व मनु शतरूपा संवाद के साथ शुरू हुई रामलीला

हिंडालको महान के कर्मी हैं रामलीला के पात्र

सिंगरौली, मध्यप्रदेश। शारदीय नवरात्र के अवसर पर वैसे तो जिले के साथ ही देशभर में माँ दुर्गा के पूजनोत्सव एवं रामलीला की धूम है। लेकिन बरगवां स्थित आदित्य बिडला समूह के उद्योग हिंडालको महान में रामलीला का मंचन अपने आप में अलग और अद्भुत है। यहाँ की रामलीला में अभिनय कर रहे सभी पात्र लीला मंडली के प्रशिक्षित अभिनेता या अभिनेत्री नहीं, बल्कि हिंडालको महान में कार्यरत कर्मचारी व अधिकारी हैं। रामायण के विभिन्न चरित्र को राम लीला में जीवंत कर ये कर्मचारी व अधिकारी अपने अभिनय से दर्शकों को अपनी ओर खींच लेते हैं।

सभी विभागाध्यक्षों ने की स्तुति वंदना

नवरात्र के पहले दिन से रामलीला का शुभारंभ जयश्री सुमानी ने प्रभु श्रीराम के दरबार के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया। श्रीराम स्तुति से शुरू हुई रामलीला मंचन का श्रीगणेश करने पहुंचे कंपनी के मानव संसाधन प्रमुख बिश्वनाथ मुखर्जी ने आये हुये श्रद्धालुओं व महान कर्मियों को शुभकामना देते हुए कहा कि नवरात्र सभी के जीवन में सुख शान्ति लाये व मां दुर्गा का शुभ आशीष प्राप्त हो। उन्होंने कोरोना महामारी से बाहर निकालने की शक्ति प्रदान करने हेतु मां दुर्गा की आराधना की। वहीं कार्यकम में स्मेल्टर हेड सैंथिल नाथ, सीपीपी हेड सीएस सिंह, वित्त प्रमुख सुशांत नायक, पार्टरूम प्रमुख कमलकांत पाण्डेय, सिविल विभाग प्रमुख अभयानंद चतुर्वेदी व सीएसआर प्रमुख यशवंत कुमार शामिल हुए।

रामावतार से जुड़े प्रसंगों का हुआ मनोरम मंचन

विजयदशमी के दिन यहाँ विशाल रावण वध का कार्यक्रम भी किया जाता है। इस साल करोना गाइडलाईन का पालन करते हुए हिंडालको महान में रामलीला के मंचन की शुरूआत हो चुकी है। नवरात्रि के पहले दिन सभी देवी-देवताओं का पूजन किया गया। तत्पश्चात आदि कवि महर्षि बाल्मीकि की स्तुति और रामायण जी की आरती के बाद भगवान राम के जन्म की कथा के साथ ही शिव पार्वती संवाद, मनु शतरूपा, रावण द्वारा तीन भाइयों सहित वरदान की प्राप्ति, मेघनाद का इंद्र पर विजय, रावण का कैलाश पर्वत जाना, धरती की पुकार सहित भगवान के जन्म के कारणों से संबंधित प्रसंगों को बहुत ही मनोरम ढंग से मंचित किया गया।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button