राजस्व व पुलिस अधिकारी बेहतर समन्वय बनाकर सम्पादित करें कार्य: कमिश्नर रीवा

बाढ़ से निपटने की तैयारियों व जिले की कानून व्यवस्था की संभागीय कमिश्नर ने की समीक्षा

सिंगरौली, मध्यप्रदेश। बाढ़ एवं आपदा प्रबंधन सहित आने वाले त्योहारों को देखते हुये कानून व्यवस्था की स्थिति को सुदृढ़ बनाये रखने तथा कोविड 19 के तीसरी लहर को रोकने के लिए जिले में की जा तैयारियों के संबंध मे रीवा संभाग के कमिश्नर अनिल सुचारी, आईजी रीवा जोन अनिल जोगा, डी.आई.जी अनिल सिंह कुशवाह की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभागार में राजस्व एवं पुलिस अधिकारियों की आयोजित संयुक्त बैठक में जिले की गई तैयारियों की समीक्षा की गई।

कमिश्नर एवं आईजी ने जिले की कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने के संबंध में उपस्थित अधिकारियों से सुझाव लेने के बाद कमिश्नर श्री सुचारी ने बाढ़ आपदा प्रबंधन एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की और कहा कि कानून व्यवस्था सुदृढ़ एवं अधिकारियों का परफॉरमेंश बेहतर दिख रहा है, इसे आगे भी आपसी समन्वय के साथ सुदृढ़ बनाये रखें। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों को पहले से चिन्हांकित कर सभी तैयारियों को पहले ही पूर्ण करें। साथ ही उस क्षेत्र के नागरिकों को भी इसकी सूचना दें।

उन्होंने कहा इन स्थितियों के लिए पुनर्वास स्थल का पहले से ही चयन किया जाय। उन्होंने कहा कि वर्षा के दौरान कभी कभी बड़े डैमों का पानी नदियों में छोड़ने के कारण नदियों में बाढ आ जाती है। इससे उस क्षेत्र के रहवासियों के आवास व फसलों की क्षति हो जाती है। ऐसी स्थिति में पारदर्शिता के साथ राहत राशि वितरण किये जायें। राहत राशि वितरण में किसी भी प्रकार की कोताही न बरतें।

​संभागीय कमिश्नर श्री सुचारी ने कहा कि आने वाले दिनों में बड़े त्योहारों में शांति व्यवस्था बनाए रखें।त्योहारों के दौरान कोविड गाईड लाईन का कड़ाई से पालन कराया जाय। उन्होंने निर्देश दिया कि शांति व्यवस्था को भंग करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि फसल कटाई के समय भी किसानों के मध्य कई विवाद उत्पन्न होते हैं। इन्हे रोकने के लिए पहले से ही संबंधित स्थलों का सीमांकन वंटनवारा की कार्यवाही को समय पर पूर्ण किया जाय। उन्होंने निर्देश दिये कि असामाजिक तत्वों को चिन्हित कर बाण्ड ओवर इत्यादि की प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करें। इसके अलावा क्षेत्र की ज्वलंत समस्याओं को चिन्हित कर उनके निराकरण का प्रयास करें।

कमिश्नर ने निर्देश दिये कि सोशल मीडिया में कई तरह से भ्रामक एवं तथ्यहीन जानकारियां प्रसारित होती रहती हैं जिससे कानून व्यवस्था बिगड़ने की सभावना बन जाती है। ऐसी स्थिति में पुलिस एवं राजस्व अधिकारी सोसल मीडिया पोस्टों पर निगरानी बनाये रखें तथा गलत जानकारी प्रसारित करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करें।

बैठक मे आईजी श्री जोगा ने उपस्थित अधिकारियों को इस आशय के निर्देश दिये कि सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने वालों के पुराने मामलों को खोला जाय। त्योहारों के दौरान जिले की कानून व्यवस्था न बिगड़े इसके लिए पुलिस एवं राजस्व अधिकारियों के बीच बेहतर समन्वय बना रहे। उन्होंने कहा कि सौहार्दपूर्ण वातावरण में कोविड नियमों का पालन कराते हुये त्योहार मनाए जायें। अवैध शराब के धंधे एवं खनिज उत्खनन पर सख्ती से प्रभावी रोक लगाई जाय।

बैठक मे डीआईजी श्री कुशवाह के द्वारा जिले में कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के साथ साथ आने वाले समय पर स्वातंत्रता दिवस, मोर्हरम, रक्षा बंधन, जन्म अष्टमी, गणेश चतुर्थी जैसे त्योहारों में भीड़ भाड़ वाले स्थानों पर कोरोना प्रोटोकाल का पालन कराने के साथ साथ जमीनी मामलों में पुलिस द्वारा तत्परता के साथ कार्यवाही करने एवं थानों में निर्मित महिला उर्जा डेस्क में महिलाओं के द्वारा प्राप्त आवेदनों पर त्वरित कार्यवाही करने के साथ साथ ताजिया वाले स्थलों पर नोडल अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश दिये।

​इसके पूर्व कलेक्टर राजीव रंजन मीना द्वारा जिले की कानून व्यवस्था के संबंध मे जानकारी दी गई। साथ ही जिले में कोरोना की तीसरी लहर को रोकने हेतु की जा रही तैयारियों के संबंध में अवगत कराया गया। उन्होंने बताया कि जिले में आईसीयू एवं आक्सीजन बेड की समुचित व्यवस्था की गई है तथा जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर सहित उपखण्ड चिकित्सालयों में आक्सीजन प्लांट लगाया जा रहा है। त्योहारों के दौरान बड़े कार्यक्रमों के आयोजन को प्रतिबंधित किया गया है।

बैठक में पुलिस अधीक्षक बीरेन्द्र सिंह ने जिले के कानून व्यवस्था के संबंध में अवगत कराया। बैठक के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी साकेत मालवीय, अपर कलेक्टर डीपी बर्मन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनकर, एसडीएम देवसर आकाश सिंह, संयुक्त कलेक्टर विकास सिंह, बीपी पाण्डेय, एसडीएम सिंगरौली ऋषि पवार, एसडीएम चितरंगी नीलेश शर्मा, एसडीएम माड़ा सम्पदा सर्राफ, डिप्टी कलेक्टर एसपी मिश्रा, सीएसपी देवेश पाठक, एसडीओपी मोरवा राजीव पाठक, सभी तहसीलदार, सभी थाना प्रभारी उपस्थित रहे।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button