मध्यप्रदेश में सर्वाधिक 228 लापता को ढूंढकर सीधी पुलिस ने बनाया कीर्तिमान

बीते 11 महीनों में इस जिले ने प्रदेश में की सर्वाधिक दस्तयाबी

सिंगरौली/सीधी।
मध्यप्रदेश की सीधी पुलिस ने बीते 11 महीने में 228 लापता लोगों को दस्तयाब कर प्रदेश में उत्कृष्ट स्थान हासिल किया है। इन दस्तयाब किए गए लोगो में 184 बालिकाएं एवं 44 बालक शामिल हैं। यह प्रदेश के लिए एक कीर्तिमान है।

पुलिस कप्तान ने किया कुछ विशेष

एसपी सीधी पंकज कुमावत के निर्देशन में गठित पुलिस टीमों द्वारा लापता लोगों की दस्तयाबी के लिए विशेष अभियान चलाया गया जो अत्यधिक सफल एवं सार्थक रहा। ऐसे कई लोग भी ढूंढ निकाले गए जो कई वर्षों से लापता थे। उन लोगों के परिजन उनके मिलने की आस छोड़ चुके थे और निराश थे।

साइबर सेल ने निभाई भूमिका

एसपी पंकज कुमावत ने लापता लोगों की पूरी सूची सभी थानों से निकलवाने के बाद उनकी दस्तयाबी के लिए विशेष पुलिस टीम तैनात की है। इसमें सायबर सेल टीम की मदद लेकर लापता लोगों के लोकेशन को ट्रेस करने का कार्य किया गया।

जिन लापता लोगों की ट्रेसिंग का कार्य नेट के माध्यम से नहीं हो सकता था उनके लिए विशेष कार्ययोजना बनाकर उनसे संबंधित पूरी जानकारी एकत्र करने का कार्य शुरू किया गया। पुलिस की मेहनत रंग लाई और लापता लोगों की दस्तयाबी का रिकार्ड सीधी जिले ने कायम कर दिया।

दस्तयाबी के आंकड़े

पुलिस रिकार्ड के अनुसार 1 जुलाई 2019 से लेकर 31 मई 2020 तक कुल 144 लापता लोगों को दस्तयाब किया गया। जिनमें 106 बालिका एवं 38 बालक शामिल हैं। इसी तरह 1 जुलाई 2020 से 31 मई 2021 की अवधि में कुल 228 लोगों को दस्तयाब किया गया। जिनमें 184 बालिका एवं 44 बालक शामिल हैं। इस प्रकार विगत 11 माह में कुल 228 लोगों की दस्तयाबी सीधी पुलिस द्वारा करनें का कीर्तिमान स्थापित किया गया है।

पुलिस अधीक्षक पंकज कुमावत ने पहली बार जिले से लापता हुए लोगों की दस्तयाबी को लेकर ठोस कार्य योजना तैयार करने के साथ ही इसके लिए विशेष टीम भी गठित की थी। उन्होंने इस मामले में नियमित रूप से मॉनिटरिंग की साथ ही सतत मार्गदर्शन भी दिया।

तीन दर्जन गुमशुदा की अन्य राज्यों से हुई दस्तयाबी

सीधी जिला पुलिस ने दस्तयाबी का अभियान चलाने के दौरान तीन दर्जन लोगों की दस्तयाबी मध्य प्रदेश के बाहर अन्य राज्यों से करनें में सफलता अर्जित की है।

राज्यवार ब्यौरा

ढूंढ निकाले गए लापता लोगों में दादर नगर हवेली से 1, पश्चिम बंगाल से 2, महाराष्ट्र से 7,  उत्तर प्रदेश से 4,  गुजरात से 7,  बिहार से 1,  छत्तीसगढ़ से 6, कर्नाटक से 2, असम से 1, तमिलनाडु से 1, दिल्ली से 3, झारखंड से 1 व्यक्ति की दस्तयाबी की गई है। वहीं राज्य के अंदर जबलपुर से 4, रीवा से 6, रायसेन से 1, सिंगरौली से 2, होशंगाबाद से 1, भोपाल से 2, सतना से 4, शहडोल से 1, छिंदवाड़ा से 1, छतरपुर से 1, विदिशा से 1 एवं सिंगरौली से 25 लोगों की दस्तयाबी की गई। साथ ही सीधी जिले के विभिन्न क्षेत्रों से 123 लापता लोगों की पुलिस द्वारा तत्परतापूर्वक दस्तयाबी की गई। दस्तयाबी के बाद पुलिस द्वारा लापता लोगों को सुरक्षित उनके परिजनों को सौंप दिया गया।

अब जिले की पुलिस द्वारा लापता लोगों की जानकारी को गुमशुदगी में दर्ज करनें के साथ ही पूरी तत्परता के साथ खोजबीन शुरू किया जाता है। लापता व्यक्ति के संबंध में पूरी जानकारी जुटाने के बाद पुलिस द्वारा दस्तयाबी के लिए पूरी कार्ययोजना तैयार की जाती है। आवश्यकता पड़ने पर सायबर सेल टीम सीधी की मदद लेकर लापता व्यक्ति के लोकेशन को ट्रेस करते हुए सर्चिंग का कार्य किया जाता है।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button