फिर बहा रिलायंस ओबी डंप का मलबा, गाँव में मची तबाही

घटना को लेकर प्रशासन ने दिये कड़े निर्देश

सिंगरौली। रिलायंस कोल ब्लॉक अमलोरी के ओबी डंप का मलबा फिर से किसानों के घरों व खेतो में तबाही मचा दिया है। लोगों ने बताया कि बीती रात हुई तेज बारिश में रिलायंस का पहाड़ जैसा खड़ा ओबी का मलबा बहकर अमलोरी गांव के भुईहारी टोला में भारी तबाही मचाया है।

बताया गया कि बेतरतीब पहाड़ जैसा खड़ा रिलायंस कोल माइंस के ओबी डंप का मलबा रात में बहकर लोगों के घरों व खेतों में पट गया। इतना ही नहीं इस मलबे ने उक्त गांव के कुँआ, तालाब, नदी, नाले तक को अपनी जद में ले लिया और चारों ओर बस कीचड़ ही कीचड़ फैल गया।

प्रशासन की टीम ने घटनास्थल का किया मुआयना

रिलायंस ओबी के भयावह मंजर को देखने व जांच करने पहुँची जिला प्रशासन की टीम ने खेतों में जाकर किसानों की नष्ट हुई फसल व छतिग्रस्त मकानों का मुआयना किया। यहाँ पहुंचे अपर कलेक्टर डीपी बर्मन, एसडीएम ऋषि पवार,तहसीलदार जीतेंद्र वर्मा, हलका पटवारी धीरेश त्रिपाठी के अलावा रिलायंस कंपनी के परियोजना निदेशक उमेश महतो, रवि मिश्रा (राजस्व) एवं सीएसआर व सिक्योरिटी के अधिकारियों एवं प्रभावित किसानों के समक्ष पंचनामा तैयार किया गया तथा अपर कलेक्टर द्वारा तहसीलदार को निर्देशित किया गया कि जल्द ही प्रभावितों की छति से संबंधित प्रतिवेदन तैयार कर उन्हें मुआवजा दिलाया जाय।

अपर कलेक्टर ने कंपनी को चेताया और कहा जल्द करें समाधान

अपर कलेक्टर डीपी बर्मन ने मौके पर मौजूद कंपनी के अधिकारियों को चेताया कि किसानों के नुकसान से संबंधित ऐसी कोई भी शिकायत अब नहीं आनी चाहिए , अन्यथा कड़ी कार्यवाई की जावेगी। उन्होंने कहा बरसात सर पर है इसलिये जितना जल्दी हो सके इस समस्या का निदान करें। उपस्थित किसानों की मांग पर उन्होंने कंपनी के समक्ष दो विकल्प रखे। उन्होंने कहा कि कंपनी प्रभावित किसानों की भूमि का अर्जन करे या फिर कलेक्टर गाइड लाइन के अनुसार इनके जमीन की रजिस्ट्री कराए। इस पर कंपनी के अधिकारियों द्वारा जमीन की रजिस्ट्री कराने पर सहमति दी। लेकिन प्रत्येक किसान के परिवार से एक को कंपनी में नौकरी दिये जाने पर सहमत नही हुए। दोनों पक्ष कंपनी और किसानों को आपस बैठकर सहमति बनाने के लिये एक सप्ताह का समय दिया गया है।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button