एनसीएल की खड़िया खदान के ओबी मलबे में दफन हुए तीन मासूम

दर्जनों मवेशियों की बनी समाधि, अनेक वाहन फंसे

कोयला खदान के ओबी डम्प के असुरक्षित बहाव के लिए जिम्मेदार कौन ?

सिंगरौली। एनसीएल की खड़िया परियोजना के ओवर बर्डन डंप के स्लाइड होने से भयंकर घटना घट गई। बताया जाता है कि सैकड़ों फिट ऊँची ओबी डंप बारिश के कारण भारी मलबे के साथ सरकती हुई आम आवागमन के लिए बनी सड़क व बस्ती के भीतर तक पहुंच गई जिसमें बस्ती के तीन बच्चों के दब जाने से उनकी मृत्यु हो गई। मलबे के बहाव के कारण दर्जनों मवेशियों के भी काल कवलित होने की बात कही जा रही है। ओबी मलबे के सैलाब में कई गाड़ियों के भी फंसने की जानकारी मिली है।

स्थानीय लोगों की शिकायत है कि एनसीएल व रिलायंस के खदानों के सैकडो फिट ऊँचे ओबी डम्प आसपास के निवासियो के लिए काल तो क्षेत्रीय पर्यावरण के लिए भी संकट खड़ा करते रहे हैं। बरसात के मौसम मे ये निर्मित पहाड़ स्थानीय घरों व कालोनी के आवासों मे घुस जाते हैं जिससे वहाँ तबाही मच जाती है। कई पशुधन काल के मुँह में समा जाते हैं।

बुधवार को हुई बारिश के बाद पसरा मातम

बताया जा रहा है कि बुधवार की दोपहर हुई बारिश से खड़िया माइंस का ओबी डंप खिसक गया और इसके मलबे मे दब जाने से तीन मासूम बच्चों की मौत हो गई। मृतकों में 13 वर्षीय राधेश्याम पुत्र रामसिया साहू, 12 वर्षीय विक्की एवं 13 वर्षीय दीनानाथ पुत्र विश्वनाथ पटवा की अकाल मृत्यु हो गई।
इस घटना में 12 वर्षीय अभिषेक पुत्र पप्पू हरिजन गंभीर रूप से घायल बताया गया है। एनसीएल की इस परियोजना के ओबी डंप से खिसके मलबे में कोयला परिवहन करने वाले दर्जनों ट्रेलर व अन्य वाहनों के फंस जाने की जानकारी सूत्रों ने दी है।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button