असाध्य रोगों का बिना दवा के एक्यूप्रेशर चिकित्सा से उपचार संभव- प्रोफेसर अमर प्रताप सिंह चंद्रवंशी

भारतीय एक्यूप्रेशर संस्थान के सहयोग से गायत्री शक्ति पीठ सिंगरौली में 10 नवंबर से चल रहे चिकित्सा एवं प्रशिक्षण शिविर से लाभान्वित हो रहे लोग

singraulitimes.com

हथेली से संभव है तन बदन का उपचार

मध्य प्रदेश, सिंगरौली
भारतीय एक्यूप्रेशर संस्थान के सहयोग से गायत्री शक्ति पीठ सिंगरौली में गत 10 नवंबर से प्रारंभ एक्यूप्रेशर चिकित्सा एवं प्रशिक्षण शिविर आगामी 20 नवंबर तक चलेगा जिसमें असाध्य रोगों से पीड़ित एवं पूर्व में गहन उपचार लेने के उपरांत निराश हो चुके लोग लाभान्वित हो रहे हैं।

इस शिविर का संचालन कर रहे भारतीय एक्यूप्रेशर संस्थान, लखनऊ के निर्देशक एवं एक्यूप्रेशर संस्थान, प्रयागराज के प्रोफेसर अमर प्रताप सिंह चंद्रवंशी ने बताया कि उपचार से निराश हो चुके असाध्य रोगों से पीड़ित रोगियों का भी बिना दवा, एक्यूप्रेशर चिकित्सा पद्धति से उपचार संभव है। उन्होंने जानकारी प्रदान करते हुए बताया कि एक्यूप्रेशर एक प्राचीन प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति है, जिसकी खोज हमारे ऋषि मुनियों ने की है। उन्होंने बताया कि इस पद्धति से अपनी हथेली में स्थित बिंदुओं को दबाकर, मेथी दाना और चुंबक का उपयोग कर, बिना किसी भी प्रकार की दवाई के गंभीर से गंभीर रोग का उपचार स्वयं किया जा सकता है।

प्रो. चंद्रवंशी ने बताया कि एक्यूप्रेशर सीखकर डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, गठिया, मिर्गी, दमा, मोटापा, स्पॉन्डिलाइटिस, किडनी, हृदय, महिलाओं के रोग, पथरी, पैरालिसिस आदि बीमारियों का बिना दवा के उपचार किया जा सकता है।

प्रति दिन दो सत्रों में आयोजित है शिविर

गायत्री शक्ति पीठ में चल रहे 10 दिवसीय शिविर के विषय में गायत्री परिवार के भाई राम सहोदर जी ने बताया कि 10 नवंबर को सायं 5 बजे से प्रारंभ एक्यूप्रेशर चिकित्सा एवं प्रशिक्षण शिविर 20 नवंबर तक चलेगा। उन्होंने जानकारी दी कि शिविर का प्रात:कालीन सत्र प्रतिदिन प्रात: 7- 8 बजे तक यज्ञ एवं ध्यान तथा 9 से 11 बजे तक प्रशिक्षण का होता है। जबकि सायंकालीन सत्र में दोपहर 2 से 5.30 तक उपचार एवं सायं 6.30 से 8 बजे तक प्रशिक्षण दिया जाता है। शिविर में चिकित्सा प्रशिक्षण एवं परामर्श नि:शुल्क प्रदान किया जा रहा है। पुस्तकें एवं उपकरण आदि समूल्य हैं।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button