टॉर्चर से परेशान पत्नी ने पति को सुलाया मौत की नींद

कांड को सुलझाने का लंघाडोल पुलिस ने किया दावा, आरोपी महिला गिरफ्तार

सिंगरौली। लंघाडोल पुलिस ने डोंगरी कठला टोला में गुरूवार एवं शुक्रवार की रात हुई युवक की हुई अंधी हत्या गुत्थी को सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने चौबीस घण्टे के अंदर अंधी हत्या का पर्दाफास करते हुए आरोपी महिला को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। हत्या की वजह पति पत्नी को शक के नजर से देखता था और इसी बात को लेकर दोनों में विवाद भी हो रहा था। मृतक के मारपीट से तंग आरोपी महिला ने दुस्साहस भरा कदम उठाते हुए पवन कुमार विश्वकर्मा के गर्दन पर कुल्हाड़ी से हमला करते हुए मौत की नींद सुला दी थी।

थाना प्रभारी ने बताया

अंधी हत्या कांड का खुलासा करते हुए लंघाडोल थाना प्रभारी बालेन्द्र त्यागी ने बताया कि डोंगरी गांव के कठला टोला निवासी मृतक पवन कुमार पिता अंजनी विश्वकर्मा की गुरुवार व शुक्रवार की रात धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। गत 2 जु़लाई की सुबह घटना की जानकारी मिली। तब पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह एवं एएसपी अनिल सोनकर व एसडीओपी प्रियंका पाण्डेय को अवगत कराते हुए पुलिस टीम के साथ स्थल पहुंच शव को अपने कब्जे में लेकर जांच पड़ताल शुरू कर दी गई।

ग्रामीणों से मिला सुराग

आसपास के ग्रामीणों से पतासाजी के क्रम में ज्ञात हुआ कि मृतक पवन कुमार एवं उसकी पत्नी राजमती विश्वकर्मा के बीच बीते 4-5 महीने से विवाद होता रहता था। मृतक अपनी पत्नी के चरित्र पर संदेह करने लगा था और किसी अन्य व्यक्ति से अवैध संबंध होने का जिक्र करते हुए अपनी पत्नी के साथ मारपीट करता था। बताया कि 1 जुलाई को मृतक ने पत्नी के साथ जमकर मारपीट की थी। इसी से तंग आकर 1 एवं 2 जुलाई की मध्य रात्रि लगभग 2 बजे रात आरोपी महिला राजमती विश्वकर्मा ने अपने पति पवन पर कुल्हाड़ी से गर्दन व सिर पर 4-5 वार करते हुए उसे मौत की नींद सुला दिया। उन्होंने आगे बताया कि घटना के दूसरे दिन एफएसएल टीम ने खोजी कुुुत्त्ते के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया। महिला के संदिग्ध पाये जाने पर उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी। जहां उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

साक्ष्य एकत्र कर महिला को बनाया आरोपी

थाना प्रभारी के अनुसार साक्ष्य एकत्रित करने के बाद महिला के विरुद्ध भादवि की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर महिला को गिरफ्तार करते हुए न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

पुलिस टीम

अंधी हत्या मामले से पर्दा उठाने वाले पुलिस दल में थाना प्रभारी बालेन्द्र त्यागी के साथ ही सउनि सूर्यपाल सिंह, शिवकुमार सोनवानी, आ. पुष्पराज सिंह, फतेबहादुर सिंह, दिलेन्द्र यादव, चिन्टू सिंह, रामनरेश गुर्जर, आकाश डोंगरे की भूमिका रही।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button