वैश्य महासम्मेलन ने भजन कीर्तन व स्वच्छता अभियान चलाकर मनाई महात्मा की जयंती

सिंगरौली, मध्यप्रदेश। वैश्य महासम्मेलन की महिला जिला इकाई सिंगरौली द्वारा गत 2 अक्तूबर को सायं 6 बजे गुरुकृपा लॉज के सत्संग हाल में कीर्तन भजन एवं संगोष्ठी कर महात्मा गांधी की जयंती को मनाया।

कार्यक्रम का शुभारंभ वैश्य महासम्मेलन के जिलाध्यक्ष एवं समाजसेवी राजाराम केशरी, सराफा व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष रामदुलारे वर्मा, वैश्य महासम्मेलन की जिला महिला प्रभारी अनीता गुप्ता एवं तहसील महिला प्रभारी चंद्रकली गुप्ता के द्वारा माता लक्ष्मी व सरस्वती एवं भगवान गणेश जी के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर धूप दीप जलाकर किया। महिला विंग द्वारा एक घंटे भजन कीर्तन कर वैश्य शिरोमणि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती को श्रद्धापूर्वक मनाया।

गांधी जी ने स्वतंत्रता और शांति के लिए लड़ी लड़ाई: राजाराम

वैश्य महासम्मेलन के जिलाध्यक्ष राजाराम केशरी ने महात्मा गांधी को नमन करते हुऐ संगोष्ठी कार्यक्रम के दौरान बताया कि बापू ने अपने कार्यों एवं अहिंसावादी विचारों से पूरे विश्व की सोच बदल दी तथा देश की आजादी एवं शांति की स्थापना ही उनके जीवन का एक मात्र लक्ष्य था। गांधी जी ने स्वतंत्रता और शांति के लिए की गई लड़ाई में भारत और दक्षिण अफ्रीका में कई ऐतिहासिक आंदोलन को एक नई दिशा प्रदान की।गांधी जी के विचारों ने दुनिया भर के लोगों को न केवल प्रेरित किया बल्कि करुणा, सहिष्णुता और शांति के दृष्टिकोण से भारत और दुनिया को बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। गांधी जी के द्वारा बताए गए मार्ग एवं आदर्श सिद्धांतों पर चलने की प्रेरणा हम सभी को लेनी चाहिए तभी उनकी जयंती मनाने का उद्देश्य पूरा हो सकता है।

प्रदेश में वैश्यों के 30 घटक

श्री केशरी ने बताया कि पूरे विश्व में वैश्य समाज की कुल 372 जातियां हैं जिनमें से मध्य प्रदेश में लगभग 28 से 30 घटक पाये जाते हैं। वर्तमान समय में वैश्य महासम्मेलन के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री उमाशंकर गुप्ता हैं जो राजनीति में रहते हुए भी वैश्य समाज के लोगों की चिंता करते हैं। वे प्रदेश के सभी तहसीलों व जिलों में भ्रमण कर लोगों को एकजुट कर सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा देते हैं। यह कोई राजनीतिक संगठन नहीं है। यह वैश्य समाज के गरीबों, दीन दुखियों की मदद करने व समाज में लोगों की समय समय पर भलाई करने का कार्य करता है।

नारायण दास गुप्त जी रहे महासम्मेलन के संस्थापक: श्री वर्मा

सराफा व्यापार मंडल के अध्यक्ष राम दुलारे वर्मा ने संगोष्ठी कार्यक्रम में बताया कि वैश्य महासम्मेलन के संस्थापक स्वर्गीय नारायण दास गुप्त जी रहे, जिन्हें नाना जी के नाम से जाना जाता है। उन्होंने वैश्य समाज को एकत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। आज वर्तमान समय में वैश्य महासम्मेलन के प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर गुप्ता हैं। वे जब मंत्री थे तब भी समाज का कार्य करते थे आज भी कर रहे हैं। आज गांधी जी की जयंती पर मैं उन्हें प्रणाम करता हूँ।

इस कार्यक्रम का संचालन वैश्य महा सम्मेलन की महिला जिला प्रभारी अनीता गुप्ता ने की तथा आभार प्रदर्शन तहसील महिला अध्यक्ष चंद्रकली गुप्ता ने ज्ञापित किया। इस कार्यक्रम में प्रमुख रूप से सीमा जायसवाल, किरण केशरी, रीना केशरी, सरोज गुप्ता, सरिता गुप्ता, संध्या गुप्ता, किरण केशरी, ललिता देवी, सीता देवी, गायत्री देवी, सोनम गुप्ता, सुनीता गुप्ता, इंदु सोनी व अन्य महिलाएं उपस्थित रहीं।

वैश्य महासम्मेलन द्वारा की गई पार्क की सफाई

वैश्य शिरोमणि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर मल्हार पार्क वैढ़न में वैश्य महासम्मेलन के द्वारा सफाई का कार्यक्रम किया गया। जिला इकाई, युवा इकाई एवं महिला इकाई सिंगरौली के संयुक्त तत्वाधान में मल्हार पार्क वैढ़न में सफाई का कार्यक्रम किया गया।

जिलाध्यक्ष राजाराम केशरी ने स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए लोगों से अपील की गई कि शहर व अपने घरों एवं दुकानों के आस पास गन्दगी न हो आप सभी लोग शहर को साफ सुथरा रखने में सहयोग करे़।तथा नगरनिगम की कचरा संग्रह की गाड़ी आने पर सुखा कचरा एवम गीला कचरा अलग अलग बॉक्स में जमा करे।

कार्यक्रम में उपस्थिति

उक्त कार्यक्रम में उपाध्यक्ष श्रीमती आशा गुप्ता, जिला मंत्री रामदुलारे सोनी सदस्य श्रीमती अगसिया देवी, राजेंद्र सोनी, दीपू गुप्ता, शैलेंद्र जायसवाल, एडवोकेट दिलीप कुशवाहा, व्यापार मंडल के उपाध्याय सुरेंद्र नोटवानी, सचिव अजय जायसवाल, सोनू सरदार, युवा टीम के जिलाध्यक्ष आशुतोष सोनी, जिला महामंत्री कमलेश सोनी, सदस्य राजेश सोनी, सूरज चौरसिया, बसंत लाल चौरसिया एवं वैश्य समाज के बहुत से लोग उपस्थित रहे।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button