ग्रामीणों का पुलिस के खिलाफ फूटा गुस्सा, किया चक्काजाम

कियोस्क सेंटर में घुसकर संचालक के साथ की गई बेरहम पिटाई व लूटपाट के पुलिस के रवैये के प्रति जताया क्रोध

 

सिंगरौली, मध्यप्रदेश। सिंगरौली जिले के माड़ा थानांतर्गत रजमिलान कस्बे में दिन दहाड़े कियोस्क व स्टेशनरी दुकान में घुसकर संचालक के साथ मारपीट, तोडफ़ोड़ करने व लाखों रुपयों को उठा ले जाने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं किये जाने से बुधवार की देर शाम ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। ग्रामीणों ने सत्तारूढ़ भाजपा के नेताओं के साथ करीब पांच घण्टे से अधिक समय तक चक्काजाम कर दिया जिसके चलते कोयला सहित अन्य वाहनों के पहिए थम गये थे। जाम छुड़वाने के लिए पुलिस को भारी मशक्कत करनी पड़ी।

घटना के विषय में

घटना बीते 3 अगस्त की है। रजमिलान कस्बे में स्थित अंश कम्प्यूटर स्टेशनरी व यूनियन बैंक ग्राहक सेवा केन्द्र में दोपहर करीब 2 बजे रमाकर शाह पिता जज्ञसेन शाह उम्र 28 वर्ष निवासी कर्सुआराजा के दुकान में शातिर आरोपी छोटन सिंह उर्फ जग्गा सिंह, सूरज सिंह व मुलायम यादव पहुंचे और बेवजह बेतुका सवाल जबाव करते हुए मारपीट करने लगे। दुकानदार किसी तरह आरोपियों के चंगुल से भाग निकला। लेकिन तब आरोपियों ने दुकान में जमकर तोड़-फोड़ की।

फरियादी का आरोप

फरियादी का आरोप है कि घटना के बाद वहाँ मौजूद करीब 2 लाख 95 हजार रुपये गायब थे। घटना की सूचना उसी दिन फरियादी ने थाने पहुंचाई थी। लेकिन माड़ा पुलिस रिपोर्ट लेने में घण्टों इधर-उधर लटकाती व भटकाती रही। जिसके चलते घटना को सूचना के करीब 3 घण्टे बाद किसी तरह दर्ज किया गया।

पुलिस कार्रवाई

इस दौरान पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 327, 323, 427, 34 के तहत नामजद अपराध पंजीबद्ध कर आश्वस्त किया कि 24 घण्टे के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा। पुलिस अपने वायदे के मुताबिक खरी नहीं उतरी तो कल 4 अगस्त की शाम करीब 5 बजे से लेकर रात 11 बजे तक रजमिलान तिराहे पर सैकड़ों ग्रामीण, आधा दर्जन से अधिक सरपंच लामबंद होकर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ चकाजाम कर दिये।

पुलिस की वादाखिलाफी से बदला माहौल

बताया जा रहा है कि करीब 5 घण्टे से अधिक समय तक रजमिलान में चक्काजाम चलता रहा। चक्काजाम हटाने व लोगों का गुस्सा शांत कराने के लिए पुलिस को काफी पापड़ बेलने पड़े। अंतत: फिर से पुलिस ने आश्वासन दिया कि 24 घण्टे में आरोपियों को हर हाल में गिरफ्तार कर लिया जायेगा। बावजूद इसके तीनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। पुलिस की वादाखिलाफी और लुंज-पुंज कानून व्यवस्था से नाखुश ग्रामीणों ने माड़ा पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। आरोप है कि पुलिस अवैध कार्यों एवं अपराधियों को बढ़ावा दे रही है। जिसके चलते क्षेत्र के आतताईयों, अराजक तत्वों, गुण्डा बदमाशों का हौसला बुलंद हो गया है। ऐसे शातिर अपराधियों पर सख्त कार्रवाई नहीं हुई तो यहां के ग्रामीण ने फिर से चक्काजाम आंदोलन करने की चेतावनी दे दी है।

एसडीएम प्रशासनिक अमला के साथ घटनास्थल पहुंचे

चक्काजाम कर हंगामा कर रहे व्यवसाईयों, ग्रामीणों को समझाने के लिए माड़ा टीआई रावेन्द्र द्विवेदी जब असफल हो गये तब माड़ा एसडीएम, तहसीलदार व बरगवां टीआई एनपी सिंह को एसपी ने भेजा। चार घण्टे से अधिक समय तक लोगों को समझाने बुझाने का काम चलता रहा। ग्रामीणों की मांग थी कि बीच बाजार से शराब की दुकान हटाई जाय, अराजक तत्वों पर सख्ती के साथ कार्रवाई हो। साथ ही चौबीस घण्टे के अंदर आरोपियों की गिरफ्तारी हो। एसडीएम व पुलिस ने फिर से आश्वस्त किया है कि आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

कार्रवाई को मान रहे खानापूर्ति

कम्प्यूटर स्टेशनरी व कियोस्क दुकान में दिन-दहाड़े घुसकर पीडि़त के साथ मारपीट कर दुकान में जमकर तोड़-फोड़ करने, लाखों रुपयों को गायब कर दिये जाने के बावजूद पुलिस कार्रवाई के नाम पर महज खानापूर्ति की है। पीड़ित के साथ-साथ प्रबुद्धजनों का आरोप है कि दुकान या घर में घुसकर मारपीट करना भादवि की धारा 452 के श्रेणी में आता है। किन्तु यहां पुलिस ने इस तरह की धारा नहीं लगाई है। इसी वजह से पुलिस की कार्यप्रणाली को संदिग्ध मानकर लोग तरह-तरह के सवाल उठाने लगे हैं।

घटना की वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद

घटना की पूरी वारदात कियोस्क संचालक दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद है। फुटेज को देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि आरोपी योजनाबद्ध तरीके से वारदातों को अंजाम दिये हैं। दिन-दहाड़े बीच तिराहे में हुई घटना को लेकर पुलिस कार्रवाई सवालों के घेरे में आ गयी है।

दुकानदारों की मांग पूरी हो: रामनिवास

भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रामनिवास शाह ने कहा कि आरोपीगण दुकान में घुसकर कियोस्क संचालक के साथ मारपीट किये हैं। पुलिस ने चौबीस घण्टे के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया था। किन्तु आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। इसीलिए ग्रामीणों ने रजमिलान में चक्काजाम कर दिया। यहां के दुकानदारों की मांग है कि बाजार से शराब की दुकान हटनी चाहिए और आरोपियों पर सख्ती के साथ कार्रवाई हो। एसडीएम, तहसीलदार व टीआई से इस मुद्दे पर मैं स्वयं स्थल पहुंच चर्चा भी किया हूॅं।

पुलिस अधीक्षक का कहना

पुलिस अधीक्षक बीरेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि आरोपियों के विरुद्ध भादवि की धारा 327 सहित अन्य धाराएं लगाई गई हैं। पुलिस इनके धरपकड़ के लिए कार्रवाई कर रही है।

Rohit Gupta

A journalist, writer, thinker, poet and social worker.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button